मनरेगा मजदूर बनीं दीपिका पादुकोण!

deepika

भोपाल: मध्य प्रदेश के खरगौन जिले में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां मनरेगा मजदूरों के जॉब कार्ड पर फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण और दिया मिर्जा की तस्वीर दिखी है। हालांकि, जॉब कार्ड पर नाम और पता ठीक है लेकिन तस्वीर की जगह अभिनेत्री की फोटो है। इस चूक के सामने आने के बाद जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जानकारी के मुताबिक, करीब एक दर्जन जॉब कार्ड पर दो फिल्म अभिनेत्रियों के तस्वीर लगे हैं।

दिलचस्प बात तो ये भी है कि कुछ ऐसे कार्ड भी हैं जो पुरुष लाभार्थियों के हैं लेकिन उस पर तस्वीर दीपिका पादुकोण या दिया मिर्जा की है। ये पूरा मामला आरटीआई कार्यकर्ता संदीप मदाहार ने सामने लाया है। उन्होंने दावा किया कि यह टाइपिंग की गलती नहीं है बल्कि लाखों लोगों के पैसे को छीनने के लिए एक सुनियोजित घोटाला है। उन्होंने इस मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।
कई लोगों को र्काड रिन्यूवल की जानकारी तक ना थी
संदीप ने बताया कि जब हर पांच साल पर मनरेगा के कार्ड को रिन्यू किया जाता है, सीरियल नंबर वही रहता है। उन्होंने कहा ‘लेकिन जब मैं गांव में गया तो मैंने देखा कि बहुत से लोग रिन्यूवल के बारे में नहीं जानते थे। नए कार्ड का सीरियल नंबर पुराने कार्ड से नहीं मिल रहा था। किसी ने भी रिन्यूवल के लिए अप्लाई भी नहीं किया था।’
दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी
मोनू शिवशंकर नाम के शख्स के बताया कि वे मनरेगा के तहत किसी काम में गए भी नहीं है लेकिन उनके नाम के जॉब कार्ड पर दीपिका पादुकोण की तस्वीर है। उन्होंने कहा ‘मेरे पास यह जॉब कार्ड भी नहीं है।’ एक और शख्स ने भी बताया कि उन्हें भी गांव में कोई काम नहीं मिला लेकिन जॉब कार्ड पर दिया मिर्जा की तस्वीर है। वहीं इस पूरे मामले में खरगौन जिला पंचायत के सीईओ गौरव बेनल ने कहा कि तस्वीर को लेकर उन्हें शिकायतें मिली हैं। इसके आधार पर जांच के आदेश दे दिए गए हैं। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सुशांत केस : एनसीबी की टीम अंधेरी के रिसॉर्ट में पहुंची, मिला अहम सुराग

मुंबई : अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत को महीनों बीत गए हैं। लेकिन मौत के कारण का अब तक खुलासा नहीं हो पाया आगे पढ़ें »

आज से भारत में पूरी तरह बंद हुआ पबजी

नई दिल्ली : पबजी मोबाइल और पबजी मोबाइल लाइट को आज से भारतीय यूजर्स के लिए पूरी तरह बंद कर दिया गया है। भारत में आगे पढ़ें »

ऊपर