आज ऐसे करेंगे पूजन तो बनी रहेगी शनिदेव की कृपा

कोलकाताः पौराणिक ग्रंथों के अनुसार यह मान्यता है कि शनिदोष से मुक्ति पाने के लिए मूल नक्षत्रयुक्त शनिवार से आरंभ करके 7 शनिवार शनिदेव की पूजा करनी चाहिए और व्रत रखने चाहिए। ऐसा करने से शनिदेव की कृपा बनी रहती है।
* व्रत के लिए शनिवार को प्रात:काल उठकर स्नान करना चाहिए।
* तत्पश्चात भगवान हनुमान व शनिदेव की आराधना करते हुए तिल व लौंगयुक्त जल पीपल के पेड़ पर चढ़ाना चाहिए।
* इसके बाद शनिदेव की प्रतिमा के समीप बैठकर उनका ध्यान लगाते हुए मंत्रोच्चारण करना चाहिए।
* पूजा करने के बाद काले वस्त्र, काली वस्तुएं किसी गरीब को दान करनी चाहिए।
* अंतिम व्रत को शनिदेव की पूजा के साथ-साथ हवन भी करवाना चाहिए।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

हावड़ा में तृणमूल में आने के लिए भाजपा नेताओं की है लंबी लाइन : अरूप राय

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में तृणमूल कांग्रेस की तीसरी बार सरकार बनने के बाद से भाजपा के कई बड़े नेताओं के सुर बदलने लगे। भाजपा आगे पढ़ें »

ऊपर