रवि शास्त्री के दिन पूरे, नया कोच ढूंढ रहा बीसीसीआई

कोच और सपोर्ट स्टाफ का कार्यकाल खत्म हाे चुका है

नई दिल्लीः भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने भारतीय टीम के नए कोच और सपोर्ट स्टाफ की तलाश शुरू कर दी है और इसके लिए 30 जुलाई तक आवेदन मांगे गए हैं। भारतीय टीम को इंग्लैंड की मेजबानी में हुए विश्व कप में न्यूजीलैंड के हाथों सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा था। विश्वकप में भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री थे। बीसीसीआई का संचालन देख रही प्रशासकों की समिति (सीओए) ने मंगलवार को एक बयान जारी कर बताया कि टीम इंडिया के प्रमुख कोच, बल्लेबाजी कोच, गेंदबाजी कोच, फील्‍डिंग कोच, फिजियोथेरेपिस्ट, कंडीशनिंग कोच और प्रशासनिक मैनेजर के लिये 30 जुलाई तक आवेदन मांगे गये हैं।

अंतिम फैसला बीसीसीआई का होगा

बीसीसीआई ने साथ ही बताया कि टीम इंडिया का मौजूदा कोचिंग स्टाफ स्वत: ही इस भर्ती प्रक्रिया में शामिल रहेगा। इन पदों के लिये बीसीसीआई का निर्णय अंतिम और बाध्यकारी होगा।
इतने दिन का होगा कार्यकाल
मुख्य कोच, अन्य सपोर्टिंग स्टाफ और मेडिकल स्टाफ की नियुक्ति पांच सितंबर 2019 से 24 नवंबर 2021 तक के लिये रहेगी जबकि प्रशासनिक मैनेजर की नियुक्ति एक वर्ष की अवधि के लिये होगी।टीम इंडिया के प्रमुख कोच रवि शास्त्री का अनुबंध अगले महीने वेस्टइंडीज दौरे के बाद समाप्त हो जाएगा। बीसीसीआई ने हालांकि कहा है कि मौजूदा कोचिंग स्टाफ स्वत: ही इस प्रक्रिया में शामिल रहेगा। लेकिन प्रक्रिया में शामिल होने के लिये मौजूदा कोचों को अपनी सहमति देनी होगी।
45 दिन का विस्तार दिया गया है

भारतीय टीम के सपोर्ट स्टाफ में शास्त्री के अलावा गेंदबाजी कोच भरत अरूण, बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ और फील्‍डिंग कोच आर श्रीधर शामिल हैं। सपोर्ट स्टाफ को विश्वकप के बाद 45 दिन का विस्तार दिया गया है और इसमें वेस्टइंडीज का तीन अगस्त से तीन सितंबर तक का दौरा शामिल रहेगा।

टीम के साथ जुड़ेंगे नए ट्रेनर और फिजियो

भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने के लिये मौजूदा स्टाफ को अपनी सहमति देनी होगी। लेकिन टीम को नया ट्रेनर और फिजियो मिलेगा। ट्रेनर शंकर बासु और फिजियो पैट्रिक फरहार्ट भारत के सेमीफाइनल में बाहर हो जाने के बाद अपने पदों से विदा हो गये थे। भारत को वेस्टइंडीज दौरे के बाद अपने घरेलू दौरे की शुरुआत 15 सितंबर से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज से करनी है।

कुंबले को हटाकर शास्त्री को कोच बनाया गया था

शास्त्री की नियुक्ति 2017 में की गयी थी जब अनिल कुंबले का कार्यकाल विवादास्पद ढंग से समाप्त हुआ था। उस समय कोच की चयन प्रक्रिया में कुंबले ने स्वत: आवेदन किया था लेकिन कप्तान विराट कोहली की पसंद माने जाने वाले शास्त्री को ही कोच बनाया गया।

कोई बड़ा टूर्नामेंट नही जीत सका भारत

57 साल के शास्त्री इससे पहले अगस्त 2014 से जून 2016 तक भारतीय क्रिकेट के निदेशक भी रहे थे। शास्त्री और विराट का तालमेल शानदार था लेकिन उनके कार्यकाल के दौरान भारतीय टीम आईसीसी का कोई बड़ा टूर्नामेंट नहीं जीत सकी। भारत को 2017 की चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान से और 2019 के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से हार का सामना करना पड़ा था।

यह है शास्त्री की उपलब्‍धि

शास्त्री के कार्यकाल की सबसे बड़ी उपलब्धि भारत का इस साल के शुरू में आस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतना है। उनके कार्यकाल में भारत ने आस्ट्रेलिया में वनडे सीरीज और फिर न्यूजीलैंड में वनडे सीरीज जीती। लेकिन विश्वकप से ठीक पहले भारत को आस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू वनडे सीरीज में 2-3 से हार का सामना करना पड़ा था।

उम्र 60 साल से कम होनी चाहिए

बीसीसीआई ने मुख्य कोच के लिये जो शर्त रखी है उसमें उम्मीदवार को 60 वर्ष से कम का होना चाहिये और साथ ही कम से कम 30 टेस्ट या 50 वनडे खेलने का अनुभव भी होना चाहिये। बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्‍डिंग कोच के लिये भी 60 वर्ष से कम की उम्र रखी गयी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

zakir

जाकिर नाइक की बोलती बंद, मलेशिया ने धार्मिक भाषण देने पर लगाई रोक

कुआलालमपुर : मलेशिया में भड़काऊ भाषण देने के कारण इस्लामिक धर्म उपदेशक जाकिर नाइक पर पूरे देश में रोक लगा दी गई है। मलेशियाई सरकार आगे पढ़ें »

गाय को बचाने गए 3 किसानों की करंट लगने से मौत

बक्सर : जिले में गाय को बचाने गए 3 किसानों की करंट लगने से मौत हो गई। जानकारी के अनुसार लक्ष्मण डेरा बधार में खेत आगे पढ़ें »

ऊपर