विंडीज दौरे में जगह नहीं मिलने से निराश है यह युवा खिलाड़ी

मनीष और श्रेयस को मिला मौका

नई दिल्लीः भारतीय टीम के युवा बल्लेबाज शुभमन गिल ने विंडीज दौरे के लिए भारत की सीमित ओवर टीम में जगह नहीं मिलने पर निराशा जताई है। आईसीसी विश्व कप में भारतीय टीम के सेमीफाइनल से बाहर हो जाने के बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि चयनकर्ता युवा खिलाड़ियों को टीम में मौका देंगे। विंडीज दौरे के लिये मनीष पांडे और बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को भी मौका दिया गया है जिनका हाल ही में समाप्त विंडीज दौरे में भारत ए टीम की ओर से अच्छा प्रदर्शन रहा था।

शीर्ष स्कोरर बने थे

लेकिन 19 साल के गिल को टी 20 और वनडे टीम दोनों में जगह नहीं मिल सकी जिस पर उन्होंने निराशा जताई है। हालांकि उन्होंने एक वेबसाइट को दिये साक्षात्कार में कहा कि वह राष्ट्रीय टीम में जगह नहीं मिलने के बारे में अब लगातार नहीं सोचना चाहते हैं। गिल विंडीज ए के खिलाफ भारत ए टीम की ओर से 218 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे थे।

रन बनाना जारी रखूंगा

गिल ने कहा ‘मैं तो सीनियर पुरुष टीम में जगह बनाने का इंतजार कर रहा था। मुझे उम्मीद थी कि विंडीज दौरे के लिये चयनकर्ता जो टीम घोषित करेंगे उसमें मेरा नाम होगा। कम से कम किसी एक प्रारूप में तो मुझे जगह मिलेगी। मुझे टीम में जगह नहीं मिलना निराशाजनक है लेकिन मैं इसके बारे में सोचकर समय व्यर्थ नहीं करूंगा। मैं रन बनाना जारी रखूंगा और चयनकर्ताओं को अपनी प्रतिभा दिखाता रहूंगा।’

लंबे समय तक क्रीज पर टिके रहना जरूरी

उन्होंने अपने खेल में बदलावों का जिक्र करते हुये कहा ‘अपने पहले विंडीज दौरे से मैंने सबसे बड़ा सबक यही सीखा है कि मुझे किसी जगह की परिस्थितियों के अनुसार ही अपना स्वाभाविक खेल खेलना है। अच्छी गेंदों को रोकना और लंबे समय तक क्रीज पर टिके रहना जरूरी है। मुश्किल स्थितियों में बल्लेबाजी कर पाना अहम है।’ गिल अब वेस्टइंडीज ए के खिलाफ भारत की ए टीम की ओर से तीन गैर आधिकारिक टेस्टों की सीरीज में दिखाई देंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर