‘धोनी को सातवें नंबर पर उतारना भारी चूक थी’

मैनचेस्टरः पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व कप सेमीफाइनल में महेंद्र सिंह धोनी को सातवें नंबर पर उतारकर भारी गलती की। हार्दिक पांड्या और दिनेश कार्तिक को धोनी से पहले भेजा गया जब भारत के चार विकेट 24 रन पर निकल गए थे।

लक्ष्मण ने कहा ‘धोनी को पांड्या से पहले भेजा जाना चाहिये था। यह भारी तकनीकी चूक थी। धोनी को दिनेश कार्तिक से पहले आना चाहिये था। 2011 में वह युवराज सिंह की जगह चौथे नंबर पर आये और विश्व कप जिताया।’

गांगुली ने कहा ‘भारत को उस समय अनुभव की जरूरत थी। पंत के क्रीज पर रहने के समय धोनी साथ होते तो उसे हवा के विपरीत वह शाॅट नहीं खेलने देते। इंग्लैंड में यह काफी अहम है। धोनी को ऊपर भेजना चाहिये था। आपको उसके शांत स्वभाव की उस समय जरूरत थी। वह रहते तो ऐसे विकेट नहीं गिरते। जडेजा की बल्लेबाजी के समय धोनी थे और दोनों का तालमेल गजब का था। सातवें नंबर पर धोनी को भेजना गलत था। चयनकर्ता पिछले डेढ साल में मध्यक्रम का संयोजन नहीं बना सके। हर बार रोहित और विराटपर निर्भर नहीं रह सकते।’

सचिन तेंदुलकर ने कहा ‘सवाल यह है कि ऐसे हालात में क्या आपको अनुभव के आधार पर धोनी को ऊपर नहीं भेजना चाहिये था। आखिर में वह लगातार जडेजा से बात करता रहा और हालात उसके नियंत्रण में थे। हार्दिक की जगह धोनी को ऊपर भेजना चाहिये था। कार्तिक को पांचवें नंबर पर भेजना समझ से परे था।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

malala

मलाला यूसुफजई की बायोपिक के निर्देशक को जारी हुआ फतवा, लगा यह आरोप

नई दिल्ली : नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित पाकिस्तानी कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई के जीवन पर आधारित फिल्म गुल मकई के निर्देशक अमजद खान के खिलाफ आगे पढ़ें »

jdu

जदयू ने प्रशांत किशोर और पवन वर्मा को निष्कासित किया

नई दिल्ली : जदयू ने बुधवार को अपने उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर एवं महासचिव पवन वर्मा को पार्टी से निष्कासित कर दिया। साथ ही कहा कि आगे पढ़ें »

ऊपर