दर्शकों के साथ चेपॉक पर लौटी क्रिकेट की दीवानगी

चेन्नई: कोरोना महामारी के कारण करीब एक साल से खेलों से दूर रहे दर्शकों को जैसे संजीवनी मिली जब चेपॉक स्टेडियम पर वे लौटे। क्रिकेट को लेकर दर्शकों की दीवानगी की बानगी साफ देखने को मिली जब निराशा और नकारात्मकता में बीते पिछले दौर को भुलाकर वे रोहित शर्मा के शॉट्स पर उछलते नजर आये। दर्शकों में से किसी ने अपने ‘थाला’ महेंद्र सिंह धोनी की 7 नंबर की चेन्नई सुपर किंग्स की जर्सी पहन रखी थी तो किसी ने हाथ में ‘भारत आर्मी’ का बैनर था। कुछ के चेहरे पर मास्क था कुछ के चेहरे पर नहीं। चौदह-पंद्रह हजार दर्शकों की मौजूदगी ने मैदान का माहौल ही बदल दिया था। तमिलनाडु क्रिकेट संघ ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट के लिये 50 फीसदी दर्शकों को स्टेडियम में प्रवेश की अनुमति दी है। कोरोना महामारी अभी गई नहीं है लेकिन मैदान पर क्रिकेट देखने के इस मौके ने दर्शकों को सकारात्मकता और ऊर्जा से भर दिया। चेन्नई के दर्शक अपने खेलप्रेम के लिये वैसे भी मशहूर हैं। जब 1999 में पाकिस्तान ने रोमांचक मैच में भारत को हराया था, तब दर्शकों ने खड़े होकर उसका अभिवादन किया था। इसी मैच में चोटिल सचिन तेंदुलकर आंख में आंसू लिये ड्रेसिंग रूम लौटे थे। सुबह आठ बजे से ही यहां प्रवेश द्वारों पर दर्शक जुटने शुरू हो गए थे। पिछले एक दशक में पहली बार ‘आई ’, ‘जे ’ और ‘के ’ स्टैंड दर्शकों के लिये खोले गये।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘डायन’ की शंका में पांच लोगों की हत्या

रांची : भूत-प्रेत के अंधविश्वास से जुड़ी दिल दहलाने वाली घटना झारखंड के आदिवासी इलाके में सामने आई है। कई दिनों से कुछ पशुओं के आगे पढ़ें »

मंदिर में जानें से पहले क्यों बजाई जाती हैं घंटी?

कोलकाता : मंदिर में प्रवेश करने से पहले घंटी बजाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। आपने भी हर किसी को मंदिर के आगे पढ़ें »

ऊपर