तो इसलिए पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने नहीं सुनी थी पीएम इमरान की बात…

इमरान खान के सुझाव पर बोले हफीज- किसी के ट्वीट के आधार पर नहीं लिया जाता फैसला

नई दिल्लीः भारत और पाकिस्तान के मैच को कई दिन बित गए हैं, लेकिन अभी भी यह मैच सुर्खियों में बना हुआ है। विश्व कप के इस मैच में भारत ने पाकिस्तान को एकतरफा अंदाज में पीटा थाा। इस हार को वह शायद अपना नहीं पा रहे हैं। मैच के बाद पाकिस्तानी खिलाड़ियों के एक के बाद एक बयान सामने आ रहे हैं। कप्तान सरफराज अहमद के बाद पाकिस्तानी खिलाड़ी मोहम्मद हफीज ने कहा है कि विश्व कप में खराब प्रदर्शन की वजह से सभी खिलाड़ी दुखी हैं और वह वापसी के लिए बेकरार हैं ताकि सेमी फाइनल में जगह बन सके।
सरफराज की काफी आलोचना हुई थी
साथ ही उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की ओर से मैच के पहले ट्वीटर के जरिए दी गए टिप्स को लेकर भी अपनी चुप्पी तोड़ी है। हफीज ने इमरान खान की ओर से दिए गए टिप्स ना मानने को लेकर कहा है ‘यह एक टीम का फैसला था और यह फैसला किसी के ट्वीट के आधार पर नहीं लिया जा सकता। हमने अच्छी गेंदबाजी नहीं की इसलिए हार का सामना करना पड़ा।’ बता दें कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने पहले बल्लेबाजी की सलाह दी थी, लेकिन सरफराज ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था। इस फैसले के बाद सरफराज की आलोचना भी की कई थी।
अब भी उम्मीद कायम है
वहीं हफीज ने यह भी कहा है कि पाकिस्तान को टेबल में 9वें नंबर पर देखना हमारे लिए काफी दुखद है। उन्होंने कहा ‘हम किसी एक व्यक्ति पर दोष नहीं मढ़ सकते हैं और हार की जिम्मेदारी सब पर जाती है। मीडिया में नकारात्मक अभियान से हम भी दुखी हैं। यहां तक कि खिलाड़ियों के परिवार वालों को निशाना बनाया जा रहा है। जब हम जीत हासिल करते हैं तब अच्छी चीजों पर क्यों बात नहीं होती है ? मुझे पता है कि पाकिस्तान के लिए मुश्किल स्थिति है लेकिन ऐसा नहीं है कि कोई उम्मीद ही नहीं बची है।’
अगला मैच द.अफ्रीका से
बता दें कि पाकिस्तान का अगला मैच दक्षिण अफ्रीका से रविवार को लॉर्ड्स में है। दक्षिण अफ्रीका के अलावा पाकिस्तान को न्यूजीलैंड, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से मैच खेलने हैं। पाकिस्तान की शुरुआत बहुत शर्मनाक रही थी, इसके बाद पाकिस्तान को भारत, आस्ट्रेलिया और भारत से हार मिली थी। वहीं हफीज ने इग्लैंड के खिलाफ 62 गेंदों में 84 रनों की धुआंधार पारी खेली, जिसमें 2 छक्के और 8 चौके शामिल रहे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Vashistha Narayan Singh

आइंस्टीन के सिद्धांत को चुनौती देकर प्रसिद्धि पाने वाले व‌शिष्ठ नारायण सिंह का हुआ ये हाल

पटना : भारत के महान गणितज्ञ डॉ. वशिष्ठ नारायण सिंह ने गुरुवार को पीएमसीएच में अंतिम सांस ली। अलबर्ट आइंस्टीन के सिद्धांत को चुनौती देकर आगे पढ़ें »

Statue of Swami Vivekanand

जेएनयू कैंपस में स्वामी विवेकानंद की मूर्ति को उपद्रवियों ने किया अपमानित

नई दिल्ली : जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्रों के भारी विरोध-प्रदर्शन के बाद आखिरकार मोदी सरकार को बढ़ी हुई फीस को कम करना आगे पढ़ें »

ऊपर