जीत और रोहित की वापसी से ओतप्रोत टीम इंडिया सिडनी में इतिहास रचने को तैयार

सिडनी: दस दिन के अंदर की उपलब्धियों और ‘बिग हिटर’ रोहित शर्मा की वापसी से मजबूत बनी भारतीय टीम आस्ट्रेलिया के खिलाफ गुरुवार से यहां शुरू होने जा रहे तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में जीत का क्रम जारी रखते हुए बोर्डर-गावस्कर ट्राफी पर अपना अधिकार बरकरार रखने की कोशिश करेगी। हालांकि सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) में भारतीय बल्लेबाजों ने कुछ यादगार पारियां खेली हैं लेकिन यह मैदान टीम के लिये भाग्यशाली नहीं रहा है। उसे यहां छह मैचों में पराजय मिली है। उसने इस मैदान में एकमात्र जीत 42 साल पहले हासिल की थी। यदि अजिंक्य रहाणे की टीम सिडनी में इतिहास रचकर 2-1 से बढ़त हासिल कर लेती है तो फिर बोर्डर-गावस्कर ट्राफी उसके पास ही बनी रहेगी और यह भारतीय क्रिकेट में सबसे यादगार पलों में से एक होगा। यह भी उल्लेखनीय है कि भारत अपने सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज विराट कोहली और दो प्रमुख तेज गेंदबाजों के बिना इसे हासिल करने जा रहा है। यह भी उपलब्धित है कि स्टीव स्मिथ जैसे बल्लेबाजों से सजी आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी को भारतीय गेंदबाजों ने दहशत में डाला है। मोहम्मद शमी के बाद उमेश यादव के भी बाहर होने के बाद नवदीप सैनी और शार्दुल ठाकुर में से जिसका भी चयन किया जायेगा, उसे यह जिम्मेदारी बखूबी निभानी होगी। आस्ट्रेलिया पर भारतीय गेंदबाजों का दबाव ऐसा है कि वह 70 प्रतिशत फिट डेविड वार्नर को उतारने की तैयारी कर रहा है ताकि अधर में लटकी उनकी बल्लेबाजी की नैया पार लग सके। आस्ट्रेलियाई टीम अपनी बल्लेबाजी को लेकर मायूस है। कप्तान टिम पेन ने मैच की पूर्व संध्या पर कहा कि वार्नर ऊर्जावान और पेशेवर खिलाड़ी है, जो तुरंत प्रभाव छोड़ सकता है और बाकी खिलाड़ियों में आत्मविश्वास भर सकता है। ऐसी परिस्थितियों में रोहित शर्मा भारतीय टीम से जुड़ते हैं, जो इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलते समय चोटिल होने के कारण सीमित ओवरों की शृंखला और पहले दो टेस्ट मैचों में नहीं खेल पाये थे। आस्ट्रेलिया आने पर सिडनी के एक अपार्टमेंट में दो सप्ताह तक पृथकवास पर रहने के बाद रोहित टीम से जुड़े। मेलबर्न के एक रेस्तरां में एक उत्साही प्रशंसक के कारण उनके और चार अन्य भारतीय खिलाड़ियों के खिलाफ संभावित जैव सुरक्षा उल्लंघन के लिये जांच बिठायी गयी लेकिन रोहित का इन सब चीजों से उनका ध्यान भंग नहीं होगा। मंगलवार को उन्होंने नेट पर जमकर अभ्यास किया और रविचंद्रन अश्विन जैसे गेंदबाजों का सहजता से सामना किया। उनकी उपस्थिति से टीम और युवा खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ेगा। उन्हें चेतेश्वर पुजारा की जगह उप कप्तान नियुक्त किया गया। सिडनी का विकेट पारंपरिक तौर पर बल्लेबाजों के अनुकूल रहा है तथा यहां सुनील गावस्कर, रवि शास्त्री, सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण और यहां तक कि पिछले दौरे में पुजारा और ऋषभ पंत ने भी शतक जमाये थे। अगर रोहित और शुभमन गिल टीम को अच्छी शुरुआत दिलाते हैं तो इससे पुजारा को राहत मिलेगी, जो पहले दो टेस्ट मैचों में लचर प्रदर्शन करने के कारण दबाव में हैं। रहाणे पिछले मैच में शतक और जीत के बाद मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड, पैट कमिन्स और नाथन लियोन का सामना करने के लिये आत्मविश्वास के साथ क्रीज पर उतरेंगे। अगर रोहित के लिये मयंक अग्रवाल जगह खाली करते हैं तो केएल राहुल के चोटिल होने से हनुमा विहारी को एक और मौका मिल सकता है। लेकिन वह आस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी है, जिसे पारंपरिक तौर पर स्पिन गेंदबाजों को मदद देने वाले विकेट पर अश्विन जैसे गेंदबाज का सामना करना है। अश्विन ने अभी तक 10 विकेट लिये हैं और वह स्मिथ और मार्नस लाबुशेन जैसे खिलाड़ियों के खिलाफ जंग में खुद को अव्वल साबित करने में सफल रहे हैं। आस्ट्रेलिया स्मिथ के फार्म में लौटने को लेकर बेताब है और इसके साथ ही वह ट्रेविस हेड जैसे बल्लेबाजों से भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद कर रहा होगा लेकिन जसप्रीत बुमराह की अगुवाई वाला भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण उन्हें दबाव में रखने की पूरी कोशिश करेगा। मैच भारतीय समयानुसार सुबह पांच बजे शुरू होगा।
टीमें इस प्रकार है: भारत (संभावित 12) : रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (कप्तान), हनुमा विहारी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद सिराज, जसप्रीत बुमराह, शार्दुल ठाकुर, नवदीप ठाकुर।
आस्ट्रेलिया : डेविड वार्नर, मैथ्यू वेड, विल पुकोवस्की, मार्नस लाबुशेन, स्टीव स्मिथ, ट्रैविस हेड, कैमरन ग्रीन, टिम पेन (कप्तान और विकेटकीपर), नाथन लियोन, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड, मार्कस हैरिस, मिशेल स्वेपसन, माइकल नेसर।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रात को संगीत सुनने की डालें आदत, दूर होगा अनिद्रा और तनाव

कोलकाता : हर दौर के साथ संगीत में कुछ बदलाव बेशक नजर आते हैं लेकिन उसके प्रति दीवानगी में कोई कमी नहीं होती है। वक्त आगे पढ़ें »

लड़ाई-झगड़ों से तंग होकर रिश्ते में लेना चाहते हैं ब्रेक तो इन बातों का रखें ध्यान

कोलकाता :  कई बार आपस में बहुत ज्यादा प्यार होने के बावजूद रिलेशनशिप  में एक ऐसा दौर आता है, जब आपस में छोटी-छोटी बातों पर आगे पढ़ें »

ऊपर