क्रिकेट पर ‘बिग थ्री’ का दबदबा अब भी है कायम

मैनचेस्टर: राह में भले ही कुछ उतार चढ़ाव आये हों लेकिन अपेक्षा के अनुरूप ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और भारत ने विश्व कप के सेमीफाइनल में प्रवेश करके साबित कर दिया कि विश्व क्रिकेट में अभी भी ‘बिग थ्री’ की तूती बोलती है। टूर्नामेंट में करीब 50 करोड़ डालर प्रसारण राजस्व मिलने का अनुमान है जो खेल के विकास में आईसीसी के काम आयेगा। 2016-23 के प्रसारण चक्र में 93 एसोसिएट या जूनियर क्रिकेट देशों को आईसीसी से 17 करोड़ 50 लाख डालर मिलेंगे जबकि सिर्फ भारत को 32 करोड़ डालर मिलने वाले हैं।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट छोड़ने की धमकी

बिग थ्री ने जहां आकर्षक घरेलू प्रसारण करार भी किये हैं, वहीं दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज जैसे कमजोर अर्थव्यवस्था वाले देश जूझ रहे हैं। उनके खिलाड़ी भुगतान विवाद को लेकर लगातार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट छोड़ने की धमकी देते आये हैं।

खिलाड़ियों को रोकना चुनौती

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डुप्लेसी ने पिछले सप्ताह कहा था,‘वनडे टीम को देखते हुए दक्षिण अफ्रीका के कई खिलाड़ी टी20 सर्किट में चले जायेंगे। उन्हें रोकना सबसे बड़ी चुनौती है।’ दक्षिण अफ्रीका उन बोर्ड में से है जो अपने खिलाड़ियों को टी20 लीगों और काउंटी क्रिकेट के समकक्ष भुगतान नहीं कर पा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Jagdip Dhankhar

धनखड़ के खिलाफ विधान सभा से संसद तक मोर्चाबंदी

कोलकाता : ऐसा पहली बार हुआ है जब विधानसभा में सत्ता पक्ष ने धरना दिया। कारण थे राज्यपाल जगदीप धनखड़, जिन पर विधेयकों को मंजूरी आगे पढ़ें »

मेरे कंधे पर बंदूक रखकर चलाने की को​शिश न करें – धनखड़

कोलकाता : राज्यपाल जगदीप धनखड़ और तृणमूल सरकार के बीच संबंधों में मंगलवार को और खटास आ गयी जब उन्होंने ‘कछुए की गति से काम आगे पढ़ें »

ऊपर