ट्राई ने एक जैसे चैनलों को एक जगह रखने का निर्देश दिया

Fallback Image

नई दिल्ली : दूरसंचार नियामक ट्राई ने टेलीविजन चैनल वितरकों से एक ही तरह के चैनलों को एक साथ रखने का निर्देश दिया है. नियामक ने कहा कि ऐसा नहीं करने पर संबंधित वितरक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. ताजा निर्देश टीवी चैनलों के वितरकों को जारी किया जा चुका है. इसमें डीटीएच परिचालक तथा मल्टी सिस्टम परिचालक शामिल हैं. ट्राई को एक तरह के चैनल अलग-अलग रखने तथा एक ही चैनल को कई जगह दिखाने के बाद शिकायत मिली थी.

शिकायत के बाद भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने यह निर्देश दिया. यह निर्देश ग्राहकों के नजरिये से महत्वपूर्ण है, क्योंकि एक ही तरह के चैनलों को एक साथ नहीं रखने से उन्हें इसे तलाशने में दिक्कत होती है. दूसरी तरफ एक ही चैनल के एक से अधिक जगहों पर दिखने से उसकी दृश्यता और रेटिंग पर असर पड़ता है. ट्राई ने अपने निर्देश में कहा कि सेवा प्रदाताओं तथा ग्राहकों के हितों की रक्षा तथा क्षेत्र के सतत विकास के लिये सभी टेलीविजन चैनल वितरकों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया जाता है कि वे एक जैसे चैनलों को एक ही स्थान पर रखे और एक चैनल एक ही जगह दिखाई दे. इसमें कहा गया है कि इसका अनुपालन नहीं करने पर संबंधित वितरकों के खिलाफ ट्राई कानून के प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी.

ट्राई के सलाहकार (प्रसारण) अरविंद कुमार ने कहा कि निर्देश तत्काल प्रभाव से अमल में आ गया है और टीवी चैनल वितरकों से कड़ाई से इसका अनुपालन करने को कहा गया है. यह निर्देश यह सुनिश्चित करने के लिये जारी किया गया है कि ग्राहकों को कोई परेशानी नहीं हो. नियामक के सेवा गुणवत्ता नियमन के प्रावधान के अनुसार प्रत्येक प्रसारक को भक्ति, सामान्य, मनोरंजन, सिनेमा और न्यूज जैसी श्रेणी के तहत यह बताना होगा कि उनके चैनल किस श्रेणी में आते हैं. यह जुलाई 2018 में अमल में आया.

शेयर करें

मुख्य समाचार

nadda

उपलब्धियों और निर्णायक फैसले से भरा रहा मोदी 2.0 का पहला साल : नड्डा

नयी दिल्ली : भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने शनिवार को कहा कि मोदी सरकार का दूसरा कार्यकाल ऐतिहासिक उपलब्धियों से भरा रहा और इस आगे पढ़ें »

बंगाल के विश्वविद्यालयों में 30 जून तक कक्षाएं निलंबित रखने की कुलपतियों ने सरकार से की सिफारिश

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के विश्वविद्यालयों के कुलपतियों ने सरकार से कोविड-19 महामारी और चक्रवात अम्फान के कारण उत्पन्न हालात के मद्देनजर कक्षाओं का निलंबन आगे पढ़ें »

ऊपर