अमेरिका और भारत के बीच जल्द शुरू होगा इन वस्तुओं का व्यापार

नई दिल्ली : भारत-अमेरिका जल्द ही कुछ वस्तुओं का व्यापार कर सकते हैं, जिस पर अंतिम करार लगभग हो चुका है। हैदराबाद हाउस में दोनों देशों के प्रमुखों के बीच बातचीत के बाद वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि वस्तुओं के व्यापार के लिए दोनों देशों के बीच पहले ही विचार-विमर्श हो चुका है और इस पर लगभग अंतिम सहमति बन चुकी है।

दोनों देश जल्द ही अपनी-अपनी वैधानिक जांच पड़ताल के बाद इन वस्तुओं के व्यापार के लिए अंतिम मुहर लगा देंगे। भारत अमेरिका के अल्फा-अल्फा हे, चेरी, पोर्क और चिकन उत्पाद के आयात पर सहमती बनी है, अमेरिका भारत से आम, अंगूर और अनार आयात करेगा। दोनों देशों के बीच इन वस्तुओं के व्यापार पर बनी सहमति को अंतिम रूप देने से पहले कुछ औपचारिकताएं पूरी की जाएंगी, इनमें से डेयरी उत्पाद को लेकर भारत ने अपने बाजार खोलने पर सहमति नहीं दी है। अमेरिका अपने डेयरी उत्पादों के बेचने की इजाजत देने के लिए भारत पर लगातार दबाव बनाता रहा है। आम और अनार के निर्यात के लिए भारतीय उत्पादकों को अमेरिकी अधिकारियों बुलाकर टेस्टिंग करनी होगी, जिसका खर्च भारतीय उत्पादकों को उठाना पड़ता है।

निर्यात की लागत इससे बढ़ जाएगी, अमेरिकी बाजार में भारतीय आम और अनार लैटिन अमेरिकी देश के इन उत्पादों का मुकाबला नहीं कर पाते हैं। दोनों देशों के बीच बनी सहमति के बाद आम और अनार के निर्यातकों को किसी प्रक्रिया से नहीं गुजरना होगा और जांच प्रक्रिया की शर्त लागू होने से पहले भारत सालाना 30 लाख डॉलर का आम निर्यात अमेरिका को करता था। भारतीय अंगूर को लेकर भी दोनों देशों के बीच सहमती बनी है, अमेरिका हार्ले डेविडसन पर लगने वाले आयात शुल्क को बिल्कुल ही समाप्त कराना चाहता है, लेकिन भारत ने अभी अंतिम मंजूरी नहीं दी है।

भारत और अमेरिका के बीच फ्री ट्रेड एग्रीमेंट (एफटीए) वार्ता शुरू करने पर भी सहमति बन गई है। वाणिज्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक दोनों देशों के बीच एफटीए पर वार्ता के बाद अमेरिका को व्यापार शुरू करने के लिए 90 दिनों का समय चाहिए, जिसके बाद ही एफटीए पर मुहर लग सकती है। इससे पहले एफटीए पर बातचीत के लिए एक ज्वाइंट स्टडी ग्रुप का गठन होगा और इस ग्रुप मे दोनों देश के प्रतिनिधि हो सकते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों को मेरे खेल के खत्म होने के बारे में लिखने की आदत है, मुझे फर्क नहीं : सुशील

नयी दिल्ली : दिग्गज पहलवान सुशील कुमार उम्र के ऐसे पड़ाव पर है जहां ज्यादातर खिलाड़ी संन्यास की घोषणा कर देते है लेकिन ओलंपिक में आगे पढ़ें »

कोरोना से हुए नुकसान को कम करने के लिए सरकार जल्द नए राहत पैकेजों की घोषणा करेगी

नई दिल्ली : कोरोना के कारण हुए लॉक डाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। वित्त मंत्रालय लगातार राहत पैकेज पर आगे पढ़ें »

ऊपर