26 जुलाई तक निकाल लें पैसे, बंद हो रहा है यह बैंक

aditya-birla Payments Bank Limited

नई दिल्‍ली : वोडाफोन का एम पैसा के बंद होने के बाद वोडाफोन-आइडिया टेलीकॉम ने आदित्य बिड़ला पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (एबीआईपीबीएल) को बंद करने का निर्देश दिया है। 41 अरब डॉलर वाले कारोबारी समूह आदित्‍य बिड़ला ग्रुप ने अपने बैंक ग्राहकों से खाते में जमा धन को 26 जुलाई तक निकालने या किसी अन्‍य बैैंक के खाते में ट्रांसफर करने के लिए कहा है। वोडाफोन-आइडिया की तरफ से दी गई जानकारी में कहा गया कि बोर्ड ऑफ डायरेक्टर को बिजनेस बंद करने के रेग्युलेटरी से इजाजत मिल गई है। पेमेंट बैंक शुरू करने के 17 महीने बाद वोडाफोन आइडिया ने यह फैसला लिया है।

आर्थिक मॉडल लाभकारी नहीं रहा

कारोबार में अप्रत्‍याशित कारणों से इसका आर्थिक मॉडल लाभकारी न होने का हवाला देते हुए वोडाफोन आइडिया ने बीएसई (बाॅम्बे स्टॉक एक्सचेंज) को यह सूचना दी कि वो अपने पेमेंट बैंक कारोबार को बंद करने का निर्णय लिया है।

11 प्रमुख कंपनियों को पेमेंट्स बैंक स्‍थापित करने का मिला था मौका

मालूम हो कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 2015 में कुल 11 प्रमुख कंपनियों को पेमेंट्स बैंक स्‍थापित करने के लिए अनुमति प्रदान किया था जिसमें आइडिया भी शामिल ‌थी। गौरतलब है कि इसके बाद से अभी तक 4 कंपनियों ने अपने बैंकों को बंद करवा दिया है। ये कंपनियां हैं टेक महिंद्रा, चोलामंडलम इन्‍वेस्‍टमेंट और फाइनेंस कंपनी, आईडीएफसी बैंक और टेलीनोर फाइनेंशियल सर्विसेस। अब इस सूची में आइडिया पेमेंट्स बैंक का नाम भी जुड़ गया है।

17 महीने ही चल सकी

22 फरवरी 2018 को आइडिया पेमेंट्स बैंक ने अपना परिचालन शुरू किया था। 17 महीने बाद अब कंपनी ने सेवा प्रदान करने में असमर्थता दिखाई है। इसके बाद कंपनी ने शनिवार को अपने ग्राहकों को कह दिया कि सभी ग्राहक अपना धन निकाल लें या फिर किसी दूसरे बैंक में स्‍थानांतरित कर लें।

पेमेंट्स बैंक के संचालन में कठिनाइयां

इस पेमेंट्स बैंक का परिचालन ग्रासिम इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड और वोडाफोन आइडिया लिमिटेड द्वारा मिश्रित रूप से चलाया जाता है। इसमें ग्रासिम इंडस्‍ट्रीज 51 प्रतिशत की हिस्‍सेदारी और वोडाफोन आइडिया 49 प्रतिशत हिस्‍सेदारी के साथ काम कर रही हैं। इस पेमेंट्स बैंक के अनुसार वित्त वर्ष 2017-18 में उसे 24 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। गौरतलब है कि अधिकतर कंपनियों को पेमेंट्स बैंक के संचालन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

ऐसे निकाले अपना पैसा

बैंक ने ग्राहकों को मैसेज के जरिए भी बता दिया है कि ग्राहक अपने पैसों को स्‍थांतरित कर सकते हैं। इसके लिए वह आदित्य बिड़ला पेमेंट बैंक के नजदीकी बैंकिंग प्वाइंट पर जाकर उनकी मदद ले सकते हैं। 26 जुलाई के बाद ग्राहक इसमें पैसा जमा नहीं कर पाएंगे। सा‌थ ही बता दें कि कंपनी के टोल फ्री नंबर 18002092265 पर फोन करके जानकारी ले सकते हैं। यहां vcare4u@adityabirla।bank पर भी ई-मेल कर सकते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट ने भारतीय स्टार्टअप निंजाकार्ट में किया निवेश

नई दिल्ली: वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट ने निंजाकार्ट में संयुक्त निवेश की घोषणा की है। निंजाकार्ट अपने मेड-फॉर-इंडिया बिजनेस-टु-बिजनेस (बी2बी) सप्ला्ई चेन इन्फ्रास्ट्रक्चर और टेक्नोलॉजी सॉल्यूशंस आगे पढ़ें »

दुनिया के उद्योगपति बंगाल में करें निवेश – ममता

बंगाल आपका स्वागत करता है : सीएम दीघा में शुरू हुआ दो दिवसीय बंगाल ​पिजनेस कांक्लेव सन्मार्ग संवाददाता दीघा : नये उद्योग में निवेश के लिए बंगाल की आगे पढ़ें »

ऊपर