मुनाफे में लौटी स्पाइसजेट, हासिल किया 55.07 करोड़ रुपये का मुनाफा

Fallback Image

नई दिल्ली : विमान सेवा कंपनी स्पाइसजेट गत 31 दिसंबर को तिमाही में मुनाफे में लौटने में सफल रही, इससे पहले चालू वित्त वर्ष की पहली दो तिमाही में कंपनी ने नुकसान उठाया था। कंपनी द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक तिमाही में कंपनी को 55.07 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ। वहीं पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही के 241.13 करोड़ रुपये की तुलना में कंपनी का मुनाफा 77.16 प्रतिशत कम हुआ है। ऐसा विमान ईंधन तथा विमानों के पट्टे की लागत बढऩे की वजह से हुआ।
स्पाइसजेट के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक अजय भसह ने कहा कि विमान ईंधन और विनिमय दर के कारण लागत में भारी बढ़ोतरी के बावजूद कंपनी का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है। इसका श्रेय राजस्व बढ़ाने और लागत कम करने के हमारे बेहतरीन प्रयासों तथा यात्रियों के सतत विश्वास को जाता है। हम नई विमान और नई उड़ानों के जरिए नेटवर्क विस्तार का क्रम जारी रखेंगे। इससे पहले वित्त वर्ष पहली तिमाही में एयरलाइंस को 3.81 करोड़ रुपये और दूसरी तिमाही में 38.94 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा था। कंपनी ने दूसरी तिमाही के मुकाबले तीसरी तिमाही में औसत किराया 25 प्रतिशत बढ़ाया, जिससे उसका राजस्व 20.74 प्रतिशत बढक़र 2,530.83 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।
पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी की कुल आमदनी 2,096.11 करोड़ रुपये रही थी। इस दौरान कंपनी का कुल व्यय भी 1,856.12 करोड़ रुपये से 33.38 फीसदी बढक़र 2,475.76 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इसमें विमान ईंधन की लागत 630.99 करोड़ रुपये से बढक़र 968.34 करोड़ रुपये पर और विमानों के पट्टे का किराया 265.11 करोड़ रुपये से बढक़र 343.17 करोड़ रुपये पहुँच गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

बैडमिंटन : मंत्रालय की गाइडलाइंस के बाद कोर्ट पर उतरे लक्ष्य

नयी दिल्‍ली : स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) की गाइडलाइंस के बाद बेंगलुरु में पादुकोण-द्रविड़ सेंटर ऑफ एक्सीलेंस अकादमी में बैडमिंटन खिलाड़ियों ने प्रैक्टिस शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर