बजट में रेलवे के लिए 64,587 करोड़ रुपये

नई दिल्ली : केंद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने आज संसद में अंतरिम बजट 2019-20 पेश करते हुए कहा कि रेलवे के लिए 64,587 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। उन्होंसने कहा कि रेलवे का समग्र पूंजीगत व्यवय कार्यक्रम 1,58,658 करोड़ रुपये का है। गोयल ने कहा कि यह भारतीय रेलवे के इतिहास में सबसे सुरक्षित वर्ष रहा है, क्योंयकि बड़ी लाइनों वाले नेटवर्क पर अवस्थित सभी मानवरहित लेवल क्रॉसिंग को समाप्त कर दिया गया है।

बजट में सैनिको को सौगात, रक्षा बजट 3,05,296 करोड़ रूपये तक बढ़ाया गया

सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्स़प्रेस
देश में पहली बार विकसित एवं निर्मित सेमी हाई-स्पीसड ‘वंदे भारत एक्सरप्रेस’ का परिचालन शुरू होने से भारतीय यात्रियों को तेज रफ्तार, बेहतरीन सेवा एवं सुरक्षा के साथ विश्व स्ततरीय अनुभव मिलेगा। हमारे इंजीनियरों द्वारा पूर्ण रूप से विकसित प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में लगाई गई इस उल्लेवखनीय ऊंची छलांग से ‘मेक इन इंडिया’ को काफी बढ़ावा मिलेगा और इसके साथ ही रोजगारों का सृजन भी होगा।
गोयल ने कहा कि पूर्वोत्तर के राज्यों में रेल सेवाओं का विस्तार किया गया। वंदे भारत एक्सप्रेस नागरिकों को गति, सेवा और सुरक्षा प्रदान करेगा और मेक इन इंडिया को बढ़ावा देगा। हालांकि बजट में रेलवे के लिए किसी बड़ी योजना का ऐलान नहीं किया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में बार, रेस्तरां संचालकों ने लोगों के बैठने की क्षमता को बढ़ाने को मांग की

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में बार और रेस्तरां के मालिकों राज्य सरकार से ग्राहकों के बैठने की क्षमता को मौजूदा 50 प्रतिशत से बढ़ाकर 75 प्रतिशत आगे पढ़ें »

‘सक्षम बिहार स्वावलंबी बिहार’ अगला लक्ष्य : नीतीश

पटना : बिहार में चुनावी शोर शराबे के बीच के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ऐलान किया कि 'सात निश्चय' की तरह ही उनकी सरकार विकास आगे पढ़ें »

ऊपर