आरबीआई की मॉनेटरी पॉलिसी: ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं

नई दिल्लीः भारतीय रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों को बरकरार रखने का फैसला किया है। तीन दिवसीय मौद्रिक नीति समिति की बैठक में यह फैसला किया गया है। आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। शक्तिकांत दास ने कहा कि ग्रोथ को बरकरार रखने के लिए आरबीआई एकोमोडेटिव स्टांस को बरकरार रखेगा।

मौजूदा दरें

रेपो रेट 4.00%

रिवर्स रेपो रेट 3.35%

मार्जिनल स्टैंडिंंग फैसिलिटी रेट 4.25%

बैंक रेट 4.25%

चालू वित्त वर्ष में ग्रोथ का अनुमान घटाकर 9.5% किया
आरबीआई गवर्नर ने कहा कि महंगाई में हाल ही में आई कमी से थोड़ी गुंजाइश बनी है। विकास की गति हासिल करने के लिए पॉलिसी स्तर पर सभी पक्षों का समर्थन जरूरी है। सामान्य मानसून से इकोनॉमिक रिकवरी में मदद मिलेगी। शक्तिकांत दास ने यह भी कहा कि RBI ने चालू वित्त वर्ष में इकोनॉमिक ग्रोथ के अनुमान को घटाकर 9.5% कर दिया है। इससे पहले आरबीआई ने 10.5% ग्रोथ का अनुमान जताया था। RBI ने वित्त वर्ष 2021-22 में खुदरा महंगाई दर 5.1% रहने का अनुमान जताया है।

17 जून को जी-सिक्युरिटीज खरीदेगा RBI
शक्तिकांत दास ने कहा कि अर्थव्यवस्था को सपोर्ट देने के लिए आरबीआई 17 जून को 40 हजार करोड़ रुपए की जी-सिक्युरिटीज (गवर्नमेंट सिक्युरिटीज) खरीदेगा। दूसरी तिमाही में 1.20 लाख करोड़ रुपए की जी-सिक्युरिटीज खरीदी जाएंगी। RBI गवर्नर ने कहा कि भारत का विदेशी पूंजी भंडार 600 बिलियन डॉलर के पार जा सकता है। एमपीसी ने 31 मार्च 2026 तक वार्षिक महंगाई दर को 4% पर बनाए रखने का लक्ष्य दिया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

भाजपा सभी के लिए बड़ी बीमारी बन चुकी है – ममता

2024 में सत्ता से होगी बाहर कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला और कहा कि भाजपा आज के समय में आगे पढ़ें »

गैंगस्टर भूल्लर की दुबारा हुई अटॉप्सी, चोट के कोई निशान नहीं मिले

चंडीगढ़/कोलकाता : गैंगस्टर जयपाल सिंह भूल्लर की बुधवार को दुबारा अटॉप्सी की गयी जिसमें पुलिस द्वारा गोली चलाने से पहले किसी तरह की यातना या आगे पढ़ें »

ऊपर