आरबीआई ने घटाई ब्याज दरें, ईएमआई की दरें हुई सस्ती

नई दिल्ली : कोरोना आपदा के कारण आरबीआई ने रेपो रेट में 0.75 फीसद की कटौती किया है, जिसके बाद अब रेपो रेट 4.40 फीसद हो गया है। इससे पहले रेपो रेट 5.15 फीसद था। आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि मौद्रिक नीति समीक्षा ( एमपीसी) की बैठक 25 से 27 मार्च को हुई, जिसमें रेपो रेट 0.75 फीसद घटाने का निर्णय किया गया। सरकार ने रिवर्स रेपो रेट में भी 0.90 फीसद की कटौती की है, जिसके बाद रिवर्स रेपो रेट घटकर चार फीसद पर आ गया।

दास ने कहा कि रिवर्स रेपो रेट में कटौती की गई है, जिससे बैंक केंद्रीय बैंक के पास पैसे जमा करने की बजाय लोन प्रक्रिया को आसान करें। आरबीआई ने कोरोना के कारण रेपो रेट में भारी कटौती किया है। रेपो रेट में कटौती से होम लोन और कार लोन की इएमआई में भारी कमी आएगी और उपभोक्ता के जेब पर पड़ने वाला बोझ घटेगा। आरबीआई ने बैंकों को अनिवार्य कैश रिजर्व रेशियो ( सीआरआर) को चार फीसद से घटाकर तीन फीसद करने का निर्णय लिया है। बैंकों के पास नकदी के का फ्लो बढ़ाने का भी सरकार ने निर्णय लिया है। केंद्रीय बैंक ने बैंकों को सीआरआर सीमा में एक साल के लिए राहत देने का ऐलान किया है।

आरबीआई गवर्नर ने कहा है कि कोरोना के कारण दुनियाभर की अर्थव्यवस्था मंदी के चपेट में है। कोरोना को रोकने के लिए युद्ध स्तर के प्रयास किए जाने की जरूरत है।

आरबीआई गवर्नर ने इन उपायों की घोषणा की :
–  कोरोना से उपजी समस्या के लिए आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति ने आगामी वित्त वर्ष में जीडीपी वृद्धि दर एवं महंगाई दर से जुड़ा कोई अनुमान जाहिर नहीं किया है।
– रिकॉर्ड अनाज की पैदावर की वजह से खाने-पीने के सामान की कीमतों में गिरावट आ सकती है।
– भारत पर विपरीत असर दिखेगा, कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट से भारत को फायदा हो सकता है।
– दास ने कहा कि वित्तीय बाजार दबाव में है, बाजार में स्थिरता और आर्थिक वृद्धि को पटरी पर लाने के लिए केंद्रीय बैंक के उपायों की जरूरत है।
– बाजार में नकदी का फ्लो बढ़ाने के लिए केंद्रीय बैंक एक लाख करोड़ रुपये का रेपो ऑपरेशन करेगा।
– आज घोषित उपायों से सिस्टम में 3.74 लाख करोड़ रुपये की नकदी डाली जाएगी।
– आरबीआइ कर्ज देने वाली सभी संस्थाओं को टर्म लोन के किस्त के भुगतान के लिए तीन माह का समय देगा।
– देश के बैंकों में पैसा सुरक्षित है, भारतीय बैंकिंग प्रणाली मजबूत है।
– देश की अर्थव्यवस्था काफी मजबूत है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

जार्ज फ्लायड की मौत पर आईसीसी ने कहा, विविधता के बिना क्रिकेट कुछ नहीं

दुबई : अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने शुक्रवार को कहा कि ‘क्रिकेट विविधता के बिना कुछ भी नहीं है।’ उसने यह बयान अफ्रीकी मूल के आगे पढ़ें »

टेस्ट मैच में लागू होगा कोरोना सब्स्टीट्यूट, जल्द मिलेगी आईसीसी की मंजूरी

विश्व पर्यावरण दिवस विशेष : तीन दशक से पर्यावरण-जंगल की रक्षा कर रहे रामगढ़ के वीरू महतो

स्थिति ठीक होने पर ही टूर्नामेंट्स हो, आज यूएस ओपन होता है तो मैं नहीं खेलूंगा : नडाल

ट्रेडिंग के आखिरी के घंटों में गंवाया लाभ, निफ्टी 0.32% और सेंसेक्स 128.84 अंक नीचे हुआ बंद

आईडब्ल्यूएफ से मुआवजे की मांग करेंगी भारोत्तोलक संजीता चानू

दर्शकों के बिना कैसे होगा विश्व कप, उचित समय का इंतजार करे आईसीसी : अकरम

बंगाल में तूफान से भी तेज हुई कोरोना मामलों की गति, अब तक के सबसे अधिक आए मामले

पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी की दर देश की तुलना में कम: सीएमआईई आंकड़े

एसबीआई ने 2019-20 की चौथी तिमाही में 3,581 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया

ऊपर