कोरोना के कारण कई उत्पादों की बढ़ जाएंगी कीमतें, ये इंडस्ट्री होंगे ज्यादा प्रभावित

नई दिल्ली : कोरोना वायरस के प्रसार के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था पर असर होगा, इसे लेकर शोध एजेंसियों की रिपोर्ट आने लगी है। एसबीआई और मूडीज की रिपोर्ट के मुताबिक इससे भारत की आर्थिक गतिविधियों खास तौर पर ट्रांसपोर्टेशन, पर्यटन, होटल जैसे उद्योगों पर सीधे असर पड़ेगा।

कई उत्पादों की आपूर्ति बाधित होगी और कीमतें बढ़ जाएंगी। मूडीज ने तो चालू वित्त वर्ष के दौरान भारत की विकास दर के अनुमान को 5.4 फीसद से घटाकर 5.3 फीसद भी कर दिया है, जबकि शुरुआत में मूडीज ने 6.6 फीसद सालाना विकास दर का अनुमान लगाया था। आरबीआइ कोरोना वायरस के संभावित आर्थिक असर पर अध्ययन रिपोर्ट तीन अप्रैल को जारी कर सकती है। एसबीआइ की रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक एविएशन, होटल, ट्रांसपोर्ट, धातु, ऑटो कंपोनेंट व टेक्साइटल पर सबसे ज्यादा असर पड़ता दिख रहा है और आरबीआइ को इन सेक्टरों के लिए खासतौर पर राहत देने का एलान करना चाहिए। इन सभी सेक्टरों की मांग काफी घट जाएगी, जिससे इन्हें कई तरह की संकटों का सामना करना पड़ेगा।

सिर्फ ट्रांसपोर्ट, पर्यटन व होटल उद्योग देश की सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर को 0.90 फीसद तक प्रभावित कर सकते हैं। यह असर चालू वित्त वर्ष के बाद भी दो और वित्त वर्षो तक दिखेगा। कोरोना वायरस की वजह से 20-30 लाख विदेशी पर्यटक भारत नहीं आ सकेंगे, जिससे देश की पांच से सात अरब डॉलर (35,000-49,000 करोड़ रुपये तक) का नुकसान होगा। भारतीय यातायात सेवाओं को 3,500 करोड़ रुपये प्रति महीने राजस्व की हानि हो सकती है। चीन से आयात प्रभावित होने की वजह से मेटल, रसायन, टेक्सटाइल व ऑटो कंपोनेंट की कीमतों में पांच-सात फीसद का इजाफा भी होने के आसार है। एसबीआइ रिपोर्ट के मुताबिक अभी सस्ते कर्ज के साथ ही शुल्कों में रियायत भी उद्योग जगत को चाहिए, तभी मौजूदा मुश्किल का सामना किया जा सकेगा।

मूडीज ने अपने रिपोर्ट में कहा है कि वर्ष 2019-20 में भारत की विकास दर 5.3 फीसद रहने का अनुमान है, जबकि अगले वित्त वर्ष में 5.8 फीसद हो सकती है। वहीं मूडीज की रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस का प्रसार व्यापक होता जा रहा है और इससे ग्लोबल इकोनोमी के लिए बड़ी मुश्किलें पैदा हो रही है। इसका प्रभाव कब तक खत्म होगा फ़िलहाल कहना मुश्किल है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ब्रिगेड की सभा में शामिल होंगे अब्बास सिद्दीकी

कोलकाताः इंडियन सेक्युलर फ्रंट इस बार किसी पार्टी के लिए सत्ता बना सकती है और किसी की बिगाड़ भी सकती है। माकपा के साथ बातचीत आगे पढ़ें »

घुसुड़ी में दिन दहाड़े युवक को मारी गयी गोली, मौत

साल 2012 में युवक के पिता विजय महतो की भी हत्या हुई थीआपसी विवाद बताया जा रहा है मुख्य कारणहावड़ा : शीतना मां के स्नान आगे पढ़ें »

ऊपर