भारतीय उत्पादों को वैश्विक प्लेटफॉर्म देगा पेटीएम

नई दिल्ली : ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पेटीएम मॉल ने कहा है कि हमने भारत में निर्मित उत्पादों को देश का सबसे बड़ा व्यापारिक घराना बनाने के उद्देश्य से निर्यात किया और परिचालन के पहले दो वर्षों में ही 500 करोड़ रुपये के सकल व्यापारिक मूल्य (जीएमवी) को हासिल किया है। पेटीएम मॉल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजीव मिश्रा ने कहा कि हमारा लक्ष्य भारत के उत्पादों को वैश्विक उपभोक्ताओं तक पहुचाना है ।

हमारे पास एक बड़ा नेटवर्क है और हम हर जगह टीम को तैनात कर रहे हैं। वैश्विक बाजारों में भारतीय उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए पेटीएम मॉल कई प्रमुख साझेदारों जैसे मवारिद डिस्ट्रीब्यूशन, मेयर फूड्स, वेदिका ऑर्गेनिक्स, सिगे इम्पेक्स, फाइव रिवर फूडस्टफ इत्यादि के साथ जुड़ रहा है। हमने दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य पूर्व, कनाडा, अमेरिका और अफ्रीका में भारतीय उत्पादों के लिए बाजार का विस्तार किया है, जिससे भारतीय विक्रेताओं के लिए व्यापार के अवसरों और विकास में वृद्धि हुई है।

फोर्ड इंडिया ने पेश किया फिगो बीएस 6, ये है कीमत

कंपनी अपने मौजूदा मर्चेंट पार्टनर्स को नए क्षेत्र में अपने उत्पादों की पेशकश के लिए तैयार है और परिचालन के पहले दो वर्षों में 500 करोड़ रुपये के जीएमवी के लक्ष्य के साथ पेटीएम मॉल इन केंद्रों में एक टीम का गठन कर रहा है, जिससे अवसरों का लाभ उठाया जा सके और व्यापार सुगम हो सके। पेटीएम ईकॉमर्स प्राइवेट लिमिटेड के स्वामित्व में पेटीएम मॉल अपने अद्वितीय ऑफलाइन-टू-ऑनलाइन (ओ टू ओ) मॉडल के साथ भारत में ई-कॉमर्स व्यापार बेहतरीन तरीके से कर रहा है।

2 मार्च को खुलेगा एसबीआई का आईपीओ, 1.25 बिलियन डॉलर का होगा

कंपनी चावल, मसाले, चाय, ड्राई फ्रूट्स, बाजरा, आवश्यक तेल, क्विनोआ, मोरिंगा, ऑर्गेनिक भोजन, अधिक समय तक चलने वाले भोजन (फ्रोजन फूड), ताजे फल एवं सब्जियां, पल्प और पेस्ट जैसे भारत में निर्मित/मेड इन इंडिया उत्पादों का सफलतापूर्वक निर्यात कर रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

महानगर के कंटेनमेंट जोन व मार्केट पर विशेष निगरानी : पुलिस कमिश्नर

कोलकाता : महानगर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कोलकाता पुलिस आयुक्त अनुज शर्मा ने सोमवार को सभी थानों के अधिकारियों के लिए आगे पढ़ें »

SUPREME COURT

यूपी के आश्रय गृह में 57 नाबालिग बालिकाओं के कोरोना संक्रमित होने पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब

नयी दिल्ली : उच्चतम न्यायालय ने उत्तर प्रदेश के कानपुर स्थित आश्रय गृह में 57 नाबालिग बालिकाओं के कोरोना संक्रमित होने की खबरों को लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर