ओपल इंडिया ने पेश की झिलमिलाहट मुक्त एलईडी डाउनलाइट

नई दिल्ली : एलईडी लाइटिंग ब्रांड् ओपल लाइटिंग ने आज अपने फ्लिकर-फ्री लाइटिंग समाधानों के अंतर्गत एलईडी बाॅक्स डाउनलाइट इकोमैक्स पेश किया। यह सीलिंग में लगाई जाने वाली एलईडी लाइटें हैं जो घरों, स्टोर, स्कूलों, अस्पतालों और काॅन्फ्रेंस रुम के लिए उपयुक्त हैं। इन एलईडी को खास तौर पर आंखों के लिए सुखद लगने के लिहाज से डिजाइन किया गया है और किसी भी प्रकार की झिलमिलाहट से बचाता है।

ये डाउनलाइट इकोमैक्स बिजली बचाने वाले सीलिंग फिक्स्चर्स की ओपल इंडिया की व्यापक श्रृंखला में एक नई पेशकाश है। ये लाइट 60 फीसदी बिजली की बचत के लिए डिजाइन की गई हैं, जबकि अपने सीएफएल डाउनलाइट के मुकाबले समान प्रकाष मुहैया कराता है। ओपल का दावा है कि ये डाउनलाइट इकोमैक्स के फ्लिकर-फ्री होने से इसकी रोशनी में काम करते हुए या रहते हुए कम तनाव पड़ता है। इसे देशभर में लाॅन्च करते हुए रैंबो झांग, कंट्री हेड, ओपल लाइटिंग ने कहा कि ओपल इंडिया ऐसे उत्पाद बनाने के लिए काम करती है जो ग्राहकों और उद्योग के लिए मूल्य को बढ़ाते हों और इसके साथ ही पर्यावरण को कोई नुकसान न पहुंचाते हों। ये डाउनलाइट इकोमैक्स हमारे पोर्टफोलियो में शामिल नई पेशकश है। ये एलईडी लाइटें लगाने में आसान, बिजली बचाने वाली और पूरी तरह झिलमिलाहट मुक्त है। ओपल की बिजली बचाने वाली एलईडी टेक्नोलाॅजी का इस्तेमाल कर यूजर्स अपने वाणिज्यिक और निजी बिजली में कटौती कर सकते हैं।

ये डाउनलाइट इकोमैक्स 6 अलग-अलग रूप में पूरे भारत में ओपल पार्टनर स्टोर्स में उपलब्ध है। ये एलईडी लाइटें अपने वाॅटेज और प्रकाष देने की क्षमता के मुताबिक अलग-अलग हैं। ओपल इंडिया द्वारा पेश बिजली बचाने वाली एलईडी लाइटों से यूज़र्स को पर्यावरण की रक्षा करने, बिजली बिलों में कटौती करने और आंखों की सुरक्षा करने में मदद मिलने की उम्मीद है। यूज़र्स अपनी जरूरत के हिसाब से 5-7 वाॅटेज और 300 से 450 एलएमएस ल्युमेंस की श्रंृखला में से चयन कर सकते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैच फीट के लिए चार चरण में अभ्यास करेंगे भारतीय क्रिकेटर : कोच श्रीधर

नयी दिल्ली : भारत के क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर का कहना है कि देश के शीर्ष क्रिकेटरों के लिए चार चरण का अभ्यास कार्यक्रम तैयार आगे पढ़ें »

नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद करे आईसीसी : सैमी

नयी दिल्ली : वेस्टइंडीज के पूर्व टी-20 कप्तान डेरेन सैमी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और अन्य क्रिकेट बोर्डों से नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद आगे पढ़ें »

ऊपर