11 सालों से नहीं बढ़ रही मुकेश अंबानी की तनख्वाह

Mueksh Ambani Salary

मुंबई : देश के सबसे अमीर उद्योगपति और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी की तनख्वाह ​पिछले लगातार 11 सालों से नहीं बढ़ाई जा रही है। वे एक दशक से भी अधिक समय से 15 करोड़ रुपये सालाना वेतन ही ले रहे हैं। उनका वेतन 2008-09 में कंपनी के निदेशक मंडल की बैठक में बढ़ाकर 15 करोड़ रुपये सालाना किया गया था, उसके बाद से वे इतना ही वेतन ले रहे हैं। वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए कंपनी की निदेशक मंडल की बैठक में पुन: निर्णय लिया गया कि वे मुकेश अंबानी का वेतन 15 करोड़ रुपये सालाना ही रहेगा। वहीं वित्त वर्ष के अंत में उनके चचेरे भाई निखिल और हितल मेसवानी सहित कंपनी के सभी पूर्णकालिक निदेशकों के तनख्वाह में अच्छी बढ़ोतरी हुई है। रिलायंस इं​डस्ट्रीज लिमिटेड की वार्षिक रिपोर्ट के मुता‌बिक कंपनी में प्रबंधकीय मुआवजा स्तरों के अनुलाभों को संतुलित रखने के लिए खुद में ही उनके उदाहरण प्रस्तुत करते रहने की उनकी इच्छा को जाहिर करता है।

कंपनी में बाकियों की तनख्वाह अंबानी से अधिक

सबसे रोचक और हैरानी की बात यह है कि भले रिलायंस मुकेश अंबानी की ही कंपनी है, लेकिन चेयरमैन मुकेश अंबानी के अलावा कंपनी में सभी पूर्णकालिक निदेशकों की तनख्वाह में वृद्ध‌ि हुई है जिनमें उनके निकट संबंधी निखिल और हीतल मेसानी भी हैं। उनका सालाना वेतन 16.58-16.58 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 20.57-20.57 करोड़ किया गया है। इसी दौरान कंपनी के कार्यकारी निदेशक पी.एम.एस. प्रसाद का सालाना वेतन 8.99 करोड़ रुपये से बढ़कर 10.01 करोड़ और कंपनी के तेल परिशोधन कारोबार के प्रमुख पवन कुमार कपिल का सालाना वेतन भी 3.47 करोड़ रुपये से बढ़कर 4.17 करोड़ रुपये हो गया है। कंपनी के पूर्णकालिक निदेशकों में अंबानी के अलावा निखिल, हीतल, प्रसाद और कपिल शामिल हैं।

नीता अंबानी के कमीशन, फीस में वृद्ध‌ि

कंपनी की गैर-कार्यकारी निदेशक नीता अंबानी और एसबीआई की पूर्व चेयरपर्सन अरूंधति भट्टाचार्य को मिलने वाले कमीशन और फीस में भी बढ़ोतरी हुई है। नीता अंबानी को कमीशन के तौर पर 1.65 करोड़ रुपये और 7 लाख रुपये सिटिंग फीस के तौर पर मिले तो वहीं भट्टाचार्या को 75 लाख रुपये कमीशन और 7 लाख रुपये बोर्ड की बैठक में शामिल होने के लिए दिए गए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

zakir

जाकिर नाइक की बोलती बंद, मलेशिया ने धार्मिक भाषण देने पर लगाई रोक

कुआलालमपुर : मलेशिया में भड़काऊ भाषण देने के कारण इस्लामिक धर्म उपदेशक जाकिर नाइक पर पूरे देश में रोक लगा दी गई है। मलेशियाई सरकार आगे पढ़ें »

गाय को बचाने गए 3 किसानों की करंट लगने से मौत

बक्सर : जिले में गाय को बचाने गए 3 किसानों की करंट लगने से मौत हो गई। जानकारी के अनुसार लक्ष्मण डेरा बधार में खेत आगे पढ़ें »

ऊपर