सर्टिफाइड प्लंबर्स के लिए प्लंबर्स कोनक्ट ऐप लांच

सन्मार्ग संवाददाता, नई दिल्ली: देशभर के प्लंबर्स को एक प्लेटफॉर्म पर लाने के लिए और उपयोगकर्ताओं को उनसे जोड़ने के लिए आज नई दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में प्लंबिंग स्किल्स महोत्सव के मौके पर कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने प्लंबर्स कनेक्ट ऐप लांच किया। इस ऐप का उदेश्य सर्टिफाइड प्लंबर को अपने उपयोगकर्ताओं के करीब लाना है। प्लंबिंग स्किल्स महोत्सव जॉब फेयर में कंपनियों द्वारा सबसे अच्छे प्लंबरो को अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू प्लेसमेंट भी दिया गया।

रेनो क्विड का नया वर्जन लांच

साथ ही इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखित संदेश भेजा, जिसमें उन्होंने कहा कि देशभर में लाखों लोगों को रोजगार और आजीविका प्रदान करने में प्लंबिंग उद्योग की महत्वपूर्ण भूमिका है। भारत में बहुसंख्यक प्लंबिंग इंडस्ट्री वर्कफोर्स अनौपचारिक रूप से प्रशिक्षित है, वैश्विक मानकों के साथ मिलान करने के लिए हमारे प्लंबिंग वर्कफोर्स में कौशल प्रशिक्षण और तकनीकी प्रशिक्षण को शामिल करना हमारे लिए अनिवार्य है।

पुराने टू-व्हीलर्स को इलेक्ट्रिक से बदलने के लिए हीरो इलेक्ट्रिक का आकर्षक ऑफर्स

प्रधान ने कहा कि एग्रीकल्चरल, मैन्युफैक्चरिंग, इंडस्ट्रियल, कंस्ट्रक्शन और डोमेस्टिक सभी सेक्टर्स की इकोनॉमी में प्लंबिंग एक तकनीकी कौशल है, जिसकी सभी क्षेत्रों में उपयोग है। नवीनतम प्लंबिंग तकनीक सार्वजनिक स्वास्थ्य को बनाए रखने और पर्यावरण से संबंधित लक्ष्यों जैसे कि प्रभावी जल प्रबंधन और इसके संरक्षण को भी पूरा करती है। पूरे दिन चलने वाले इस कार्यक्रम में उत्तर भारत के सभी हिस्सों से लगभग 10,000 प्लंबर्स शामिल हुए, जिन्हें नवीनतम प्लंबिंग तकनीकों का प्रशिक्षण दिया गया था और उन्हें भागीदारी प्रमाणपत्र भी दी गई। प्रधान ने कहा कि यह एक साथ आगे बढ़ने के लिए संपूर्ण प्लंबिंग बिरादरी – उद्योग, मंत्रालय और प्लंबिंग कार्यबल के लिए अच्छा अवसर होगा। कई लोग जो पहले से ही कौशल प्रशिक्षण और मूल्यांकन से गुजर चुके हैं, उन्हें आईपीएससी इंडिया प्रमाणपत्र दिया गया। प्लंबिंग स्किल्स महोत्सव के एक भाग के रूप लगे जॉब फेयर में कंपनियों द्वारा सबसे अच्छे प्लंबरो को अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू प्लेसमेंट भी दिया गया।

अनिल अंबानी की कंपनी हुई दिवालिया

प्लंबिंग स्किल्स महोत्सव में इंडियन प्लंबिंग स्किल्स काउंसिल के अध्यक्ष डॉ. आर.के. सोमानी ने कहा कि हमने 2022 तक 12 लाख कार्यबल प्रशिक्षित करने का लक्ष्य रखा है, जिसमें से हमने पहले से ही 90,000 से अधिक प्लंबरो को प्रशिक्षित और प्रमाणित किया है। महोत्सव में अंतरराष्ट्रीय और घरेलू ब्रांड जैसे हिंदवेयर, बाथलाइन, एनएसएफ, वॉटरटेक, वीगा, जैन प्लंबिंग, एक्वाविवा, रोथेनबेर्गेर, किटेक, पैरीवेयर और जाइलम जैसी कंपनियों ने भी हिस्सा लिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

2 जून को पता चलेगा इंडिया ”भारत” बनेगा या ”हिंदुस्तान”

2 जून को  न्यायालय ‘इंडिया’ शब्द को ‘भारत’ या ‘हिंदुस्तान’ करने के लिये याचिका पर करेगा सुनवाई नयी दिल्ली : संविधान में संशाधन कर ‘इंडिया’ शब्द आगे पढ़ें »

अब काले कोट में नजर नहीं आयेंगे टीटी

नयी दिल्ली : रेलगाड़ियों में टिकट की जांच करने वाले कर्मचारी अब अपने पारंपरिक काले कोट एवं टाई नहीं पहनेंगे। भारतीय रेल के 167 के आगे पढ़ें »

ऊपर