जल्द हो सकता है इंडस टॉवर और भारती इन्फ्राटेल का विलय, बन सकती है दुनिया की दूसरी बड़ी कंपनी

नई दिल्ली : भारत एयरटेल ने एक बयान में जानकारी दी है कि 24 फरवरी को कंपनी के बोर्ड की बैठक होगी, जिसमें इंडस टॉवर के साथ कंपनी के प्रस्तावित विलय पर दूरसंचार विभाग की मंजूरी मिलने के बाद आगे की कार्ययोजना पर काम किया जाएगा। भारती इन्फ्राटेल और इंडस टॉवर के विलय के बाद बनने वाली कंपनी 22 टेलीकॉम सेक्टर्स में 1,63,000 टावरों के साथ पूरी दुनिया में दूसरे नंबर के टावर कंपनी बन जाएगी।

भारती इन्फ्राटेल ने शेयर बाजारों को जानकारी दी है कि भारती इन्फ्राटेल में इंडस टॉवर्स के विलय को लेकर एफडीआई को देर शाम स्वीकृति मिली और स्थिति की समीक्षा एवं आगे की कार्ययोजना बनाने के लिए कंपनी के निदेशक मंडल की बैठक 24 फरवरी, 2020 को होगी। इंडस टावर्स में वोडाफोन की 11.15 फीसद की हिस्सेदारी है। और विलय के बाद गठित होने वाली कंपनी का नाम इंडस टॉवर लिमिटेड होगा।

गांव और कस्बों तक उड़ने वाले मोबाइल टावर पहुंचाएंगे इंटरनेट कनेक्टिविटी

इस टॉवर डील का समय पर पूरा होना अहम है, क्योंकि इससे भारती एवं वोडाफोन आइडिया को अपनी हिस्सेदारी बेचने और धन जुटाने में मदद मिलेगी। यह वोडाफोन आइडिया के लिए यह अछ्छी खबर है कि 53,000 करोड़ रुपये से अधिक के बकाया एजीआर को लेकर मुश्किलों का सामना कर रही है। अभी तक कंपनी ने दो बार में महज 3,500 करोड़ रुपये भुगतान किया है। टेलीकॉम कंपनियों को एजीआर का 1.47 लाख करोड़ रुपये चुकाना है

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अन्य नगर निकायों के चुनाव भी अप्रैल तक

चुनाव आयोग है पूरी तरह से तैयार सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य चुनाव आयोग की ओर से कोलकाता नगर निगम के चुनाव की घोषणा की जा चुकी है। आगे पढ़ें »

ऊपर