वैश्विक मानकों को अपनाने के लिए रेलवे स्टेशन, बस और हवाई अड्डों पर इस धातु का हो इश्तेमाल : ISSDA

नई दिल्ली: भारतीय स्टेनलेस स्टील उद्योग की सर्वोच्च संस्था, इंडियन स्टेनलेस स्टील डेवलपमेंट एसोसिएशन (ISSDA) ने स्टेनलेस स्टील फॉर सस्टेनेबल ट्रांज़िट बिल्डिंग सोल्यूशंस पर आयोजित एक सेमिनार केदौरान भारत में यातायात हब बनाने के लिए स्टेनलेस स्टील का उपयोग कर वैश्विक मानक अपनाने का प्रस्ताव रखा। ISSDA ने बताया कि स्टेनलेस स्टील का उपयोग कईं अंतर्राष्ट्रीय निर्माण परियोजनाओं में मिसाल स्वरुप रहा है और सभी सम्बद्ध पक्षों को इन परियोजनाओं से प्रेरणा लेने की सलाह दी।

ISSDA के अध्यक्ष के के पाहुजा ने कहा कि स्टेनलेस स्टील की असाधारण विशेषताएं इसे भारत में ट्रांज़िट हब निर्माण के लिए सबसे उपयुक्त बनाती हैं। स्टेनलेस स्टील की सहनशीलता, न्यूनतम रखरखाव और स्थिरता इसे अन्य धातुओं की तुलना में भारी भीड़ वाले क्षेत्रों के लिए उपयुक्त बनाती हैं। बुनियादी ढाँचे के विकास की बढ़ती गति के साथ, कुशल,सुरक्षित और टिकाऊ पारगमन के लिए स्टेनलेस स्टील का उपयोग आवश्यक है। जिंदल स्टेनलेस ग्रुप और सेलम(सेल) जैसे प्रमुख खिलाड़ी स्टेनलेस स्टील के उपयोग को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। इस सेमिनार के दौरान आधुनिक निर्माण परियोजनाओं के लिए स्टेनलेस स्टील के उपयोग, बढ़ती परिवहन निर्माणप्रणाली, वस्तु-शिल्प, और रेलवे स्टेशन व हवाईअड्डा निर्माण में स्टेनलेस स्टील के उपयोग पर चर्चा हुई। इंडियन रेलवे स्टेशंस डेवलपमेंट कारपोरेशन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और सीईओ एस के लोहिया ने स्टेनलेस स्टील के उपयोगकी विशाल संभावनाओं पर ज़ोर देते हुए कहा कि भारतीय रेल के दायरे में कुल 8,613 स्टेशन आते हैं।

इनमें से 1,000 से भी अधिक में स्टेनलेस स्टील के उपयोग से पुनर्विकास की संभावना है। यह धातु एक बेहतर विकल्प है, क्योंकि यह क्षरण रोधी है, वजन में हल्का है और इसके रख-रखाव की लागत शून्य है। इसके अलावा, स्टेनलेस स्टील से रेलवे का सौदर्यीकरण भी होता है। अगले 15-20 साल में करीब चार लाख करोड़ के भारी निवेश के साथ भारतीय रेल स्टेनलेस स्टील का सबसे बड़ा उपभोक्ता बन सकता है। वास्तु-शिल्प परियोजनाओं में स्टेनलेस स्टील के फायदों का ज़िक्र करते हुए होलिस्टिक्स अर्बन इनोवेशंस प्राइवेट लिमिटेड के बिमल काचरू ने कहा कि 90 प्रतिशत भारतीय इमारतें स्टेनलेस स्टील में बनायी जासकती हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी की दर देश की तुलना में कम: सीएमआईई आंकड़े

कोलकाता : मुंबई के शोध संस्थान सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकनॉमी (सीएमआईई) के अनुसार पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी की दर देश की तुलना में कम आगे पढ़ें »

एसबीआई ने 2019-20 की चौथी तिमाही में 3,581 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया

कोरोना ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को ​लिया अपने शिकंजे में, हुआ संक्रमित

भारत के साथ सीमा विवाद को उचित ढंग से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध : चीन

फायदेमंद है संतुलित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन, अत्यधिक मात्रा पहुंचा सकता है नुकसान

भाजपा नेत्री सोनाली फोगाट ने मार्केट कमेटी के कर्मचारी को चप्पलों से पीटा

javdekar

भारत जलवायु प्रतिबद्धताओं पर खरे उतरने वाले देशों में शामिल है: प्रकाश जावडेकर

मरकज मामले में सीबीआई जांच की जरूरत नहीं: केंद्र

trump

प्रदर्शनकारियों पर हमले के मामले में ट्रंप पर मुकदमा

लॉकडाउन के दौरान इंस्टाग्राम से कमाई करने वाले खिलाड़ियों की सूची में कोहली एकमात्र क्रिकेटर

ऊपर