बजट में आम आदमी को राहत, आयकर में बड़ी छुट, पढ़ें

नई दिल्ली : करीब 3 करोड़ लघु और मध्य म वर्ग के करदाताओं को 23,000 करोड़ रुपये से अधिक की राहत मिली है। छोटी बचतों पर मिलने वाले ब्यामज पर टीडीएस सीमा बढ़ी है और आवास और रियल एस्टेेट क्षेत्र को बढ़ावा मिला है। वित्तम मंत्री ने मध्यमम वर्ग और छोटे करदाताओं के लिए करों में राहत की घोषणा की है।

पीयूष गोयल ने आज कहा कि 5 लाख रुपये तक की सालाना आमदनी वाले करदाताओं को अब कर में पूरी छूट मिलेगी और उन्हेंक कोई आयकर नहीं देना होगा। उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्षों के दौरान हमारे द्वारा किए गए प्रमुख कर सुधारों के कारण, कर संग्रहण और कर आधार में महत्वकपूर्ण वृद्धि देखने को मिली है, जिससे साधारण कराधान उच्चप-अनुपालन व्येवस्था् कायम हुई है।

बजट में रेलवे के लिए 64,587 करोड़ रुपये

वित्तल मंत्री ने कहा जिन लोगों की कुल आमदनी 6.50 लाख रुपये तक है, उन्हेंा भी किसी प्रकार के आयकर के भुगतान की जरूरत नहीं पड़ेगी, यदि वे भविष्यी निधि, विशेष बचतों, बीमा आदि में निवेश कर लेते हैं। साथ ही दो लाख रुपये तक के आवास ऋण के ब्या ज, शिक्षा ऋण पर ब्या ज, राष्ट्री य पेंशन योजना में योगदान, चिकित्साख बीमा, वरिष्ठग नागरिकों की चिकित्साा पर होने वाले खर्च जैसी अतिरिक्तो कटौतियों के साथ उच्चक आय वाले व्युक्तियों को भी कोई कर नहीं देना होगा, इससे स्वस नियोजित, लघु व्यिवसाय, लघु व्या्पारियों, वेतनभोगियों, पेंशनरों और वरिष्ठन नागरिकों सहित मध्य,म वर्ग के करीब 3 करोड़ करदाताओं को करों में 18,500 करोड़ रुपये का लाभ मिलेगा।

मानक कटौती में वृद्धि
वित्तक मंत्री ने कहा कि वेतनभोगियों के लिए मानक कटौती को वर्तमान 40,000 रूपये से बढ़ाकर 50,000 रूपये किया जा रहा है। उन्हों ने कहा कि इससे 3 करोड़ वेतनभोगियों और पेंशनधारकों को 4,700 करोड़ रूपये का अतिरिक्तज कर लाभ मिलेगा।

टीडीएस सीमा में वृद्धि
बैंक या डाकघर में जमा राशि पर मिलने वाले ब्यांज पर टीडीएस सीमा को 10,000 रूपये से बढ़ाकर 40,000 रूपये कराने का प्रस्ताकव किया गया है। इससे छोटे बचतकर्ताओं और गैर-कामकाजी लोगों को लाभ मिलेगा। गोयल ने कहा कि छोटे करदाताओं को राहत देने के लिए किराए पर कर कटौती के लिए टीडीएस सीमा को 1,80,000 रूपये से बढ़ाकर 2,40,000 रूपये तक करने का प्रस्तापव है।

बजट में सैनिको को सौगात, रक्षा बजट 3,05,296 करोड़ रूपये तक बढ़ाया गया

आवासीय घरों को अधिक राहत
वित्तय मंत्री ने कहा कि अपने कब्जे वाले दूसरे मकान के अनुमानित किराये पर लगने वाले आयकर के शुल्क, में छूट का प्रस्तााव किया गया है। उन्होंयने कहा कि वर्तमान में यदि एक व्यगक्ति के पास एक से अधिक अपना घर है तो उसे अनुमानित किराये पर आयकर का भुगतान करना होता है। गोयल ने अपनी नौकरियों, बच्चोंर की शिक्षा और माता-पिता की देखभाल के लिए दो स्था नों पर परिवार रखने के कारण मध्यसम वर्गीय परिवारों को होने वाली कठिनाइयों को देखते हुए इस राहत की घोषणा की।

वित्तमंत्री ने 2 करोड़ रूपये तक के पूंजीगत लाभों को प्राप्तन करने वाले एक करदाता के एक आवासीय घर से दूसरे आवासीय घर में निवेश के लिए आयकर अधिनियम की धारा 54 के अंतर्गत पूंजीगत लाभों में वृद्धि का प्रस्तावव किया है। हालांकि इस लाभ को जीवन में एक बार ही प्राप्ते किया जा सकता है। रीयल एस्टे ट क्षेत्र पर विशेष ध्यािन देते हुए वित्त मंत्री ने बिना बिके हुए घरों और फ्लेटों के अनुमानित किराए पर कर-शुल्क् से छूट की अवधि एक वर्ष से बढ़ाकर दो वर्ष तक करने का प्रस्ताएव किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भाजपा कार्यालय के पास से गुजरते वक्त लाठी-डण्डा साथ रखें : तेज प्रताप

पटना : बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान के साथ ही राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ट्वीट आगे पढ़ें »

भारत ने पाकिस्तान काे कड़े शब्दों में चेतावनी दी, कहा – ‘पीओके खाली करो’

न्यूयार्क: भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को एकमात्र शेष विवाद करार देते हुए तल्ख भरे स्वर में पड़ोसी देश से कहा कि आगे पढ़ें »

ऊपर