प्याज की बंपर पैदावार के कारण सरकार ने निर्यात पर प्रतिबंध हटाया

onion

नई दिल्ली : किसानों के हितों की रक्षा के लिए सरकार ने प्याज के निर्यात पर करीब छह महीने से लगे प्रतिबंध को हटाने का फैसला लिया है। दरअसल प्याज की इस बार रबी में अच्छी पैदावार होने से इसकी कीमतें गिर सकती हैं।

खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि देश में प्याज की बम्पर फसल और बाजार में प्याज की स्थिर कीमतों को देखते हुए सरकार ने प्याज के निर्यात पर लगी रोक को हटाने का फैसला किया है। मंत्री ने कहा कि पिछले साल 28.4 लाख टन प्याज का पैदावार हुआ था और इस साल प्याज की पैदावार लगभग 40 लाख टन होने का अनुमान है।

यह निर्णय गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में मंत्रियों के समूह (जीओएम) की बैठक में लिया गया। बुधवार को मंत्रिसमूह ने निर्यात को सुविधाजनक बनाने के लिए प्याज पर न्यूनतम निर्यात मूल्य (एमईपी) कम करने या समाप्त करने पर विचार किया, प्रतिबंध को हटाने का निर्णय विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) की ओर से इस संबंध में अधिसूचना जारी किए जाने के बाद प्रभावी होगा। एमईपी दर के नीचे वस्तु के निर्यात की अनुमति नहीं होती।

आपको बता दें कि सरकार ने सितंबर 2019 में प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध और प्रति टन प्याज पर 850 डॉलर का एमईपी लगा दिया था। मांग और आपूर्ति में अंतर के कारण प्याज की कीमतें बढ़ गई थीं। फ़िलहाल मंडियों में कुछ मात्रा में प्याज पहुंचने लगी है और मार्च के मध्य तक प्याज की पैदावार मंडियों तक सप्लाई होने लगेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों को मेरे खेल के खत्म होने के बारे में लिखने की आदत है, मुझे फर्क नहीं : सुशील

नयी दिल्ली : दिग्गज पहलवान सुशील कुमार उम्र के ऐसे पड़ाव पर है जहां ज्यादातर खिलाड़ी संन्यास की घोषणा कर देते है लेकिन ओलंपिक में आगे पढ़ें »

कोरोना से हुए नुकसान को कम करने के लिए सरकार जल्द नए राहत पैकेजों की घोषणा करेगी

नई दिल्ली : कोरोना के कारण हुए लॉक डाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। वित्त मंत्रालय लगातार राहत पैकेज पर आगे पढ़ें »

ऊपर