सरकार ने टीवी पैनल पर 5 प्रतिशत आयात शुल्क हटाया

panel

नई दिल्ली : घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने ओपन सेल टीवी पैनल के आयात पर 5 प्रतिशत के सीमा शुल्क को हटा लिया है। अब ओपन सेल टीवी पैनल पर कोई शुल्क नहीं लगेगा। वित्त मंत्रालय ने मंगलवार देर रात अधिसूचना में इस बात की पु‌ष्टि की। बता दें कि इन पैनल का उपयोग एलईडी और एलसीडी टीवी बनाने में होता है। सरकार के इस कदम से टीवी पैनल की कीमत में करीब 3 प्रतिशत तक की कमी आएगी।

वित्त मंत्रालय अधिसूचना के अनुसार

वित्त मंत्रालय ने मंगलवार देर रात अधिसूचना में कहा ” एलसीडी और एलईडी टीवी के विनिर्माण में इस्तेमाल होने वाले ओपन सेल टीवी पैनल (15.6 इंच और उससे ऊपर) पर कोई शुल्क नहीं लगेगा। ” बताया जा रहा है कि ओपन सेल पैनल, टेलीविजन विनिर्माण का एक अहम हिस्सा है। इसका टीवी सेट की लागत में आधा से ज्यादा हिस्सा है।

इस पर भी आयात शुल्क को हटाया गया

बताया जा रहा है कि इसके अलावा, सरकार ने चिप ऑन फिल्म, प्रिंटेड सर्किट बोर्ड एसेंबली (पीसीबीए) और सेल (ग्लास बोर्ड / सब्सट्रेट) के आयात पर लगे सीमा शुल्क को भी हटा लिया है। ये सामान ओपन सेल टीवी पैनल बनाने में उपयोग किए जाते हैं।

2017 पैनल आयात पर लगा था सीमा शुल्क

सरकार ने 30 जून 2017 को पैनल के आयात पर 5 प्रतिशत का सीमा शुल्क लगाया था। कई टीवी निर्माता कंपनियों समेत कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स एंड एप्लाइंसेस मैन्युफैक्चर्स एसोसिएशन ने इस कदम का विरोध किया था और इसे हटाने की मांग की थी।

ग्राहकों के फायदे से बढ़ेगी मांग : कंपनी

टीवी निर्माताओं का कहना है कि ओपन सेल पैनल पर ड्यूटी खत्म होने से मैन्युफैक्चरिंग की लागत 3 प्रतिशत तक घटेगी। हालाकि ग्राहकों को इसका फायदा मिल सकेगा या नहीं यह अभी साफ नहीं है। कुछ टीवी निर्माताओं ने कहा कि कीमतें पहले जितनी ही रहने की संभावना है। वहीं कुछ कंपनियों का कहना है कि अभी त्यौहारों सीजन वाले कीमत हैं। लेकिन आयात में छुट मिलने के बाद में भी कीमतें कम रखने में सहायता मिलेगी। साथ ही ग्राहकों को इससे फायदा मिलते ही मांग भी बढ़ेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर