कोरोना से हुए नुकसान को कम करने के लिए सरकार जल्द नए राहत पैकेजों की घोषणा करेगी

नई दिल्ली : कोरोना के कारण हुए लॉक डाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। वित्त मंत्रालय लगातार राहत पैकेज पर काम कर रही है। पिछले महीने सरकार ने 1.70 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की थी, जिसके जरिये समाज के गरीब वर्ग को अनाज एवं नकद के जरिये मदद पहुंचना सुनिश्चित किया था। कोरोना वायरस के प्रसार के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित सेक्टर्स को सरकार मदद के लिए प्रोत्साहन पैकेज देने पर विचार काम कर रही है।

वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि अगले कुछ दिन में सरकार राहत पैकेज की घोषणा कर सकती है। गरीब एवं वंचित तबके की परेशानियों को कम करने के लिए भी सरकार विचार कर रही है। पिछले सप्ताह प्रधानमंत्री कार्यालय ने आर्थिक मामलों के सचिव अतनु चक्रवर्ती की अध्यक्षता में सात सदस्य वाले अधिकार प्राप्त समूह का गठन किया था, जो लगातार राहत पैकेज को लेकर काम कर रही है। इसके तहत इकोनॉमी इस महामारी के कारण दिक्कतों का सामना कर रहे लोगों की समस्या दूर करने के लिए उपायों पर भी काम कर रही है।

जानकारों का कहना है कि एमएसएमई व आतिथ्य क्षेत्र, नागर विमानन, कृषि और संबंधित क्षेत्र जैसे प्रभावित सेक्टर्स की परेशानियों को ध्यान में रखकर प्रोत्साहन पैकेज पर काम कर रहा है। कोरोना से होने वाले नुकसान की स्थितियों की समीक्षा के बाद पैकेज तैयार होगी और तैयार होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली केंद्रीय कैबिनेट उसकी समीक्षा करेगी। जिसके बाद दूसरे राहत पैकेज की घोषणा होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टॉस विवाद पर बोले संगकारा- मैं जीता था लेकिन धोनी आवाज नहीं सुन पाए तो दोबारा सिक्का उछाला गया

नयी दिल्‍ली : भारत-श्रीलंका के बीच 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में दोबारा टॉस कराने के मामले में अब जाकर श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा आगे पढ़ें »

ईसीबी ने 55 खिलाड़ियों को अभ्यास शुरू करने को कहा

लंदन : विश्व कप विजेता कप्तान इयोन मोर्गन और टेस्ट टीम के कप्तान जो रुट के अलावा इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने 55 आगे पढ़ें »

ऊपर