सोने के आयात में लगातार गिरावट, जानिए क्या है कारण

नई दिल्ली : वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश का सोने का आयात चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से फरवरी की अवधि में 5.5 प्रतिशत घटकर 29.5 अरब डॉलर रह गया है. हालांकि इससे पिछले वित्त वर्ष यानी 2017-18 की समान अवधि में सोने का आयात 31.2 अरब डॉलर था. इंडस्ट्री के जानकारों का कहना है कि वैश्विक बाजार में सोने की कीमतों में कमी के कारण आयात में गिरावट आई है.

चालू वित्त वर्ष में लगातार तीन महीनों अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर, 2018 में सोने का आयात घटा. उसके बाद जनवरी, 2019 में यह 38.16 प्रतिशत बढ़कर 2.31 अरब डॉलर पर पहुंच गया. फरवरी में यह फिर 10.8 प्रतिशत घटकर 2.58 अरब डॉलर रह गया.

चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में चालू खाते का घाटा (कैड) बढ़कर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 2.9 प्रतिशत हो गया जो एक साल पहले समान अवधि में 1.1 प्रतिशत था. मात्रा के हिसाब से देश का सोने का आयात 2017-18 में 22.43 प्रतिशत बढ़कर 955.16 टन पर पहुंच गया. 2016-17 में यह 780.14 टन था.

सोने का सबसे बड़ा आयातक है भारत

भारत दुनिया में सोने के सबसे बड़े आयातक है, जिससे देश के आभूषण उद्योग की मांग को पूरा किया जाता है. हालांकि चालू वित्त वर्ष के पहले 11 माह में रत्न एवं आभूषण निर्यात भी 6.3 प्रतिशत घटकर 28.5 अरब डॉलर रह गया.

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैच फीट के लिए चार चरण में अभ्यास करेंगे भारतीय क्रिकेटर : कोच श्रीधर

नयी दिल्ली : भारत के क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर का कहना है कि देश के शीर्ष क्रिकेटरों के लिए चार चरण का अभ्यास कार्यक्रम तैयार आगे पढ़ें »

नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद करे आईसीसी : सैमी

नयी दिल्ली : वेस्टइंडीज के पूर्व टी-20 कप्तान डेरेन सैमी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और अन्य क्रिकेट बोर्डों से नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद आगे पढ़ें »

ऊपर