अग्नि दुर्घटनाओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए मौजूदा नियमों और कोडों में बदलाव की जरूरत

नई दिल्ली : इंटरनेशनल कॉपर एसोसिएशन इंडिया (आईसीए इंडिया) ने फायर एंड सिक्योरिटी एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एफएसएआई) के साथ मिलकर आज इलेक्ट्रिकल फायर सेफ्टी पर एक सेमिनार का आयोजन किया। सेमिनार में बिजली के लिए ऐसे सुरक्षित विश्वसनीय और कुशल बुनियादी ढांचे की आवश्यकता पर विचार-विमर्श किया गया जो न केवल देश की तरक्की में योगदान देने वाला हो, बल्कि हादसों को रोकने में महत्वपूर्ण हो।

सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी अथॉरिटी इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार आग लगने की बढ़ती दुर्घटनाओं में दोषपूर्ण इलेक्ट्रिकल सिस्टम का भी हाथ है। देश भर में विद्युत शक्ति की बढ़ती मांग के साथ वर्तमान विद्युत बुनियादी ढांचे की गुणवत्ता, विश्वसनीयता और दक्षता में सुधार की आवश्यकता और अधिक महसूस की जा रही है। फायरसेफ इंडिया 2019 की सामूहिक दृष्टि को साकार करने के प्रयास के रूप में आईसीए इंडिया और एफएसएआई ने आपसी सहयोग करते हुए भारत में बिजली के बुनियादी ढांचे की विश्वसनीयता और दक्षता पर चर्चा करने के लिए कदम उठाया था। पूरे दिन चले इस सेमिनार में प्रमुख सुरक्षा विशेषज्ञों विद्युत सलाहकारों और केबल निर्माताओं ने भाग लिया। संगोष्ठी में चर्चा के मुख्य विषय थे, इलेक्ट्रिकल फायर को रोकने के लिए नेशनल बिलिं्डग कोड की भूमिका, नवाचारी समाधानों के माध्यम से सुरक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करना, नेतृत्व की प्रतिबद्धता और सुविधाएं, विद्युतीय मानकों में सर्वोत्तम प्रथाओं को शामिल करना, अग्नि सुरक्षा को बढ़ाने में चुनौतियां और कार्रवाई आदि शामिल थे। संगोष्ठी में विभिन्न हितधारकों को एक साझा मंच पर लाकर विद्युत अग्नि सुरक्षा से संबंधित कुछ प्रमुख मुद्दों को संबोधित किया गया।

आईसीए इंडिया के प्रबंध निदेशक संजीव रंजन ने इस विषय पर विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि हम आईसीए इंडिया में हमेशा विद्युत सुरक्षा के बेहतर मानकों के प्रवर्तक रहे हैं। अग्नि दुर्घटनाओं की बढ़ती संख्या के मद्देनजर हमने मौजूदा नियमों और कोडों में कमियों को दूर करने के लिए इसे बहुत जरूरी माना है। एक मजबूत बुनियादी ढांचा एक स्थायी अर्थव्यवस्था की महत्वपूर्ण आवश्यकता है और इसलिए हमने अन्य हितधारकों के साथ मिल कर फायरसेफ इंडिया पहल का हिस्सा बनने का फैसला किया है। हमें उम्मीद है कि इस सेमिनार का परिणाम बेहतर होगा और कुछ महत्वपूर्ण समाधान निकल कर आएंगे। फायर एंड सिक्योरिटी एसोसिएशन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष के. पी. डोमिनिक ने सेमिनार में अपने विचार साझा करते हुए कहा कि फायर एंड सिक्योरिटी एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एफएसएआई) भारत भर में अपने 23 चैप्टर के माध्यम से भारत को सुरक्षित और संरक्षित बनाने वाले अपने मिशन ‘सुरक्षित भारत’ के साथ अथक प्रयास कर रही है।

हम हर स्तर पर जागरूकता पैदा करने के लिए समाज के सभी क्षेत्रों और वर्गों तक पहुंच बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस सेमिनार के लिए पीसीए के साथ सहयोग करते हुए हमें खुशी हो रही है जो इलेक्ट्रिकल फायर सेफ्टी के महत्वपूर्ण पहलू को संबोधित करने पर केंद्रित है। यह उद्योग के सभी हितधारकों के ज्ञान को साझा करने के लिए एक साझा मंच है, यहां से बेहतर वैधानिक नियम और कार्यान्वयन की ओर बढ़ने के लिए विचार और सुझाव हासिल होंगे।

Leave a Comment

अन्य समाचार

अमेजन रिटेल सेगमेंट में करेगी विस्तार

नई दिल्ली : अमेरिकी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन भारत में किराना श्रेणी विस्तार करने जा रही और इसके तहत कंपनी ने अपनी भारतीय इकाई अमेजन रिटेल इंडिया (एआरआईपीएल) की अधिकृत शेयर पूंजी बढ़ा दी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी ने अपनी [Read more...]

आगामी चुनावों को लेकर व्यापारी वर्ग जागरूक : कैट

नई दिल्ली : कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल का कहना है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की आलोचना करते हुए कहा की वो सत्ता आने में पर जीएसटी को खत्म करने की बात कह [Read more...]

मुख्य समाचार

बाबुल के विवादित गाने पर थिरके दिलीप व भाजपा कर्मी

भाजपा के महिला मोर्चा सम्मेलन की ओर से आयोजित हुई थी सभा खड़गपुर : चुनाव प्रचार के लिये भाजपा के पूर्व सांसद बाबुल सुप्रियो ने एक गाना गाया जिसे लेकर विर्तक शुरू हो गया है। मामला एफआईआर तक पहुंच [Read more...]

झाड़ग्राम के तृणमूल प्रार्थी को लेकर आदिवासियों में बढ़ रही नाराजगी

भाजपा आदिवासियों की नाराजगी को भुनाने की कर रही कोशिश झाड़ग्राम : आदिवासी जनबहुल झाड़ग्राम लोकसभा सीट पर तृणमूल कांग्रेस की ओर से पेशे से शिक्षिका बीराबाहा सोरेन को चुनावी मैदान में उतारा गया है। उनके पति रविन [Read more...]

ऊपर