विमानन कंपनियों के बढ़ते किराए को लेकर DGCA करेगी बैठक

नई दिल्ली : एक तरफ केंद्र सरकार उड़ान योजना के जरिए आम लोगों तक विमानन सेवा पहुंचाना चाहती है तो वही दूसरी तरफ विमान कंपनियां अपना किराया बढ़ा रही हैं. नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने हवाई किराए में लगातार हो रही बढ़ोतरी पर चर्चा के लिए मंगलवार को विमानन कंपनियों की बैठक बुलाई है.

नागर विमानन के एक सरकारी अधिकारी के मुताबिक अनुसार 13 मार्च को इथोपिया में बोइंग-737 मैक्स-8 विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद डीजीसीए ने स्पाइस जेट के ऐसे सभी 12 विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी है. ऐसे में भारतीय बाजार में हवाई किराया में वृद्धि होनी शुरू हो गई. मंगलवार दोपहर को हवाई किराये में वृद्धि पर चर्चा के लिए विमानन कंपनियों की बैठक बुलाई गई है, क्योंकि पिछले कुछ हफ्तों में जेट एयरवेज ने बड़ी संख्या में अपनी उड़ाने रद्द की हैं.

आपको बता दें कि जेट एयरवेज नकदी संकट से जूझ रही है. उसके कुल 41 विमान परिचालन से बाहर हो गए हैं. कंपनी के बेड़े में कुल 119 विमान हैं. जेट एयरवेज ने 18 मार्च से अपनी अबू धाबी की सभी उड़ानों को भी रद्द कर दिया है.

शेयर करें

मुख्य समाचार

अमेरिका का बजट घाटा एक हजार अरब डॉलर के पार !

बजट कार्यालय ने व्यक्त किया अनुमान वाशिंगटनः अगले वित्त वर्ष में अमेरिका का बजट घाटा एक हजार अरब डॉलर के पार जाने की आशंका है। यह आगे पढ़ें »

new zealand speaker

न्यूजीलैंड : संसद में रो रहे बच्चे को स्पीकर ने पियाला दूध, लोगों ने की सराहना

वेलिंगटन : न्यूजीलैंड के संसद भवन में स्पीकर ट्रेवर मलार्ड ने एक सांसद के बेटे को दूध पिलाया। मालूम हो कि संसद भवन में आमतौर आगे पढ़ें »

ऊपर