बेटी का बिजनेस संभालने से इनकार, इसलिए बिसलेरी बिकेगी

नई दिल्लीः सॉफ्ट ड्रिंक ब्रांड थम्स अप, गोल्ड स्पॉट और लिम्का को कोका-कोला को बेचने के लगभग तीन दशक बाद, रमेश चौहान बिसलेरी इंटरनेशनल को टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (टीसीपीएल) को बेचने जा रहे हैं। ये डील 6,000-7,000 करोड़ रुपए में हो रही है।
डील के तहत वर्तमान मैनेजमेंट दो साल तक जारी रहेगा। 82 साल चौहान का हाल के दिनों में खराब स्वास्थ्य रहा है और उनका कहना है कि बिसलेरी को विस्तार के अगले स्तर पर ले जाने के लिए उनके पास उत्तराधिकारी नहीं है। चौहान ने कहा, बेटी जयंती कारोबार में ज्यादा दिलचस्पी नहीं रखती। बिसलेरी भारत की सबसे बड़ी पैकेज्ड वाटर कंपनी है।

टाटा ग्रुप बेहतर तरीके से बिजनेस बढ़ाएगा
चौहान ने कहा कि टाटा ग्रुप इसका और भी बेहतर तरीके से देखभाल करेगा और आगे बढ़ाएगा। हालांकि, बिसलेरी को बेचना अभी भी एक पेनफुल फैसला था। मुझे टाटा का कल्चर पसंद है और इसलिए अन्य खरीदारों के बावजूद मैंने टाटा को चुना। कहा जाता है कि बिसलेरी को खरीदने के लिए रिलायंस रिटेल, नेस्ले और डेनोन सहित कई दावेदार थे।

 

 

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

डायमण्ड हार्बर में शुभेंदु की सभा से पहले हंगामा, घरों व वाहनों में आगजनी

कांथी में अवरोध करने में मुझे 3 सेकेंड लगते : शुभेंदु सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को डायमण्ड हार्बर में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी की सभा आगे पढ़ें »

ममता बनर्जी को दिया धोखा, उपचुनाव हो तो शुभेंदु की हार निश्चित

कांथी : नंदीग्राम में शुभेन्दु की जीत पर अभिषेक बनर्जी ने सवालिया निशान लगाया और दावा किया कि फिलहाल यहां का मामला अदालत में है, आगे पढ़ें »

ऊपर