चीन के साथ जारी तनाव के बीच भारत-ताइवान आए नजदीक, ड्रैगन बौखलाया

– चीन को नागवार है भारत ताइवान की नजदीकियां

वाशिंगटन: चीन और ताइवान के बीच फिलहाल तनाव जारी है। चीन ने दक्षिण-पूर्वी तट में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की तैनाती को बढ़ा दिया है। चीन ने कहा है कि ताइवान के संभावित सैन्य आक्रमण के लिए वह पूरी तरह से तैयार है। एक तरफ जहां चीन और ताइवान के बीच संघर्ष और तनाव जारी है तो दूसरी ओर भारत और ताइवान एक दूसरे के करीब आ रहे हैं। एक रिपोर्ट में इस बात का दावा किया है। द डिप्लोमैट की रिपोर्ट के अनुसार, ताइवान और भारत के बीच कोई औपचारिक राजनयिक संबंध नहीं हैं लेकिन दोनों देशों के लोगों ने चीनी आक्रामकता को झेला है।

भारत और ताइवान का रिश्ता हो रहा मजबूत

जैसा कि हम सब जानते है कि भारत और चीन के बीच फिलहाल सीमा विवाद चल रहा है। इस बीच भारत के लोग ताइवान और हांगकांग में रह रहे लोगों का समर्थन कर रहे हैं। वह मसाला चाय के साथ-साथ ऑनलाइन समर्थक लोकतंत्र “मिल्क टी एलायंस” का एक आसन्न सदस्य बनने के लिए ला रहे हैं। ताइवान के राष्ट्रीय दिवस से पहले भारत में चीनी दूतावास ने भारतीय मीडिया को दिशा-निर्देश भेजे कि ताइवान को कैसे संदर्भित किया जाए। इस कदम से भारत और ताइवान दोनों देश नाराज हो गए।

हाल के वर्षों में चीन ने भी ताइवान के आसपास सैन्य अभ्यास में वृद्धि की है, लगभग 40 चीनी युद्धक विमानों ने 18-19 सितंबर को मुख्य भूमि और ताइवान के बीच की मध्य रेखा को पार किया है। कई में से एक द्वीप के राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन को बल का खतरा कहा जाता है।

ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने 7 अक्टूबर को ट्वीट किया कि ऐसा लग रहा है कि कम्युनिस्ट चीन सेंसरशिप लगाकर उपमहाद्वीप में मार्च करने की उम्मीद कर रहा है। चीनी मांग नवास्तव में, दोनों देशों में ताइवान के राष्ट्रीय दिवस और ताइवान-भारत संबंधों के राज्य के ऑप-एड और समाचार कवरेज की हड़बड़ी पैदा कर दी। भारत में, #TaiwanNationalDay 10 अक्टूबर को पूरे दिन ट्विटर पर ट्रेंड करता रहा। इंटरनेट यूजर्स ने पत्रकारों और राजनेताओं के साथ मिलकर ताइवान को शुभकामनाएं दीं। बताते चलें कि भारत ने आधिकारिक तौर पर ताइवान को उसके 109वे स्वतंत्रता के लिए बधाईयां दी थीं।

चीन ने भारतीय मीडिया को दी धमकी

बताते चलें कि भारत के एक मीडिया ने चीन गणराज्य (ताइवान) के विदेश मंत्री, जोसेफ वू से बात की थी। इसके बाद चीन बौखला गया जिसके बाद भारत में चीनी दूतावास ने ‘ताइवान स्वतंत्रता’ की वकालत करने वाले उस भारतीय मीडिया साक्षात्कार पर मजबूत प्रतिनिधित्व और दृढ़ता से विरोध दर्ज कराया। उसने कहा कि चीन के साथ सीमा वार्ता में ताइवान के तनाव का भारत फायदा उठाने की कोशिश कर रहा है। ‘हम प्रासंगिक भारतीय मीडिया से चीन की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता से संबंधित मुख्य हितों के मुद्दों पर सही रुख अपनाने का आग्रह करते हैं। एक-चीन सिद्धांत का मान रखते हुए हम चाहते हैं कि ‘ताइवान स्वतंत्रता बलों’ को मंच प्रदान नहीं किया जाए और जनता को गलत संदेश भेजने से बचा जाए,’ चीनी दूतावास के परामर्शदाता जी रोंग ने एक बयान में कहा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पाक की फिर नापाक हरकत, सीजफायर का उल्लंघन…दो जवान शहीद

श्रीनगर : पाकिस्तान लाइन ऑफ कंट्रोल पर लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। पाकिस्तानी सेना ने शुक्रवार को फिर जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के आगे पढ़ें »

किसी बड़े होटल में नहीं बल्कि यहां होगी आदित्य नारायण की शादी

मुंबईः बॉलीवुड के बेहतरीन सिंगर और टीवी होस्ट आदित्य नारायण शादी जल्द ही परिणय सूत्र में बंधने जा रहे हैं। आदित्य अपनी गर्लफ्रेंड श्वेता अग्रवाल आगे पढ़ें »

ऊपर