चीन के इस फैसले की वजह से फीकी पड़ी Bitcoin की चमक

नई दिल्ली : पिछले कुछ समय से बिटक्वाइन की कीमतों में लगातार गिरावट देखी जा रही है। क्वाइन डेस्क डाटा के अनुसार बिटक्वाइन की कीमतों में एक बार फिर 14% फीसदी की गिरावट आई है। क्वाइन डेस्क डाटा के मुताबिक एक बिटक्वाइन की कीमत अब 39,522.19 डाॅलर हो गई है। 9 फरवरी के बाद बिटक्वाइन की कीमत अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई है। इस गिरावट की वजह चीन में लगाए गए प्रतिबंध को बताया जा रहा है। अप्रैल में बिटक्वाइन की कीमत अपने सबसे ऊंचे स्तर 64,829.14 डाॅलर थी।
अन्य क्रिप्टोकरेंसी का हाल भी खराब
अगर दूसरी क्रिप्टोकरेंसी इथेरियम की बात करें तो उसमें भी गिरावट देखने को मिली है। क्वाइन डेस्क डाटा के अनुसार पिछले 24 घंटों में इथेरियम की कीमत में 3,000 डाॅलर की गिरावट आई है। पिछले सप्ताह भी इथेरियम की कीमतें 4,000 डाॅलर गिरी थी।
पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि अब आगे से देश में डिजिटल टोकन का उपयोग पेमेंट के लिया नहीं किया जा सकेगा। चीन ने क्रिप्टोकरेंसी की लेने-देन करने वाली कंपनियों को भी बैन कर दिया है। साथ सट्टा लगाने वाले निवेशकों को भी चेतावनी दी है।
2017 के बाद एक बार फिर चीन ने क्रिप्टोकरेंसी पर बड़ी कार्रवाई की है। इसका असर बिटक्वाइन की कीमतों में साफ देखा जा सकता है। हालांकि चीन ने क्रिप्टोकरेंसी को रखने पर बैन नहीं किया है।
दुनिया के अरबपति और टेस्ला के मालिक एलन मस्क के ट्वीट के बाद भी क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें नीचे आई थी। मस्क ने ट्वीट में लिखा था कि हम बिटकॉइन माइनिंग और लेनदेन के लिए फोसिल एनर्जी के तेजी से बढ़ते उपयोग के बारे में चिंतित हैं। विशेष रूप से कोयला, जो किसी भी ईंधन का सबसे खराब उत्सर्जन है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

योग दिवस पर सोमवार सुबह होगा प्रधानमंत्री का संबोधन

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार सुबह अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आयोजित होने वाले एक कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। इस बार योग दिवस आगे पढ़ें »

ये ‘कॉन्डम बम’ इजरायल के खिलाफ हो रहा है यूज

नई दिल्ली: इजरायल और फलस्तीन के बीच हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। दोनों देशों के बीच मई में एक लंबे संघर्ष के बाद सीजफायर का ऐलान आगे पढ़ें »

ऊपर