बचे हैं केवल 18 दिन: इन सरकारी बैंकों में है खाता तो जल्द उठाएं ये कदम, वरना हो जाएगी देर

कोलकाताः बैकों के निजीकरण के विरोध को लेकर यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स की ओर से दो दिनों की हड़ताल बुलाई गई है। दरअसल देश के कुछ सरकारी बैंको का पहले ही विलय हो चुका है और कुछ का होना है। जिन सरकारी बैंको के विलय की घोषणा हो चुकी है उनमें देना बैंक, विजया बैंक, कॉरपोरेशन बैंक, आंध्रा बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक और इलाहाबाद बैंक हैं। विलय की वजह से इन सरकारी बैंको का चेकबुक और पासबुक 1 अप्रैल से बदलने वाले हैं। ऐसे में अगर आपका भी खाता इन सरकारी बैंको में है तो आपके पास केवल 18 दिन बचे हैं। इन दिनों में आप अपना चेकबुक और पासबुक बदलवा लें वरना आपको परेशानी झेलनी पड़ेगी।

बैकों की मर्ज होने की सूरत में ग्राहकों के अकाउंट नबंर, ब्राच का पता, चेकबुक, पासहुक समेत कई चीजों में बदलाव हो जाता है। हालांकि बैंक अपने ग्राहकों को इसकी जानकारी देता है ताकि वो समय से इसे चेंज करा सकें लेकिन अगर आपने अभी ऐसा नहीं किया है चो 18 दिन के भीतर इसे करा लें।

बैंक जारी कर चुके हैं अलर्ट

पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा पहले ही अपने ग्राहकों को अलर्ट कर चुके है। वहीं यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, विजया बैंक और देना बैंक की मौजूदा चेकबुक केवल 31 मार्च 2021 तक मान्य रहेंगी। इसलिए अगर इन बैंकों में आपका खाता है तो मर्ज होने का असर आपके अकाउंट पर भी होगा। हालांकि कैनरा बैंक घोषणा कर चुका है कि सिंडिकेट बैंक से मर्ज होने के बाद भी ग्राहकों को चेकबुक 30 जून कर मान्य रहेगा।

कौन सी चीजें करानी होंगी अपडेट

अगर आपका खाता भी इन सरकारी बैंकों में है तो आपको 1 अप्रैल से पहले अपना पता, अपने नॉमिनी की डिटेल्स, एड्रेस जैसी चीजें अपडेट करानी होंगी। वरना बैंक की कोई भी जानकारी आपके मेल या पते पर नहीं आ पाएगी क्योंकि आजकल बैंक अपने ग्राहकों को अधिकतर जानकारियां मेल या एसएमएस के जरिए भेजती हैं।

इन्हें लिंक कराना भी जरुरी

सरकार ने बैंकों को कहा है कि 31 मार्च, 2021 तक सभी खाते ग्राहकों के आधार से लिंक कर लिए जाएं। सरकार ने कहा कि 31 मार्च हर खाते में जहां पैन जरूरी और उपयुक्त हो, वहां पैन होना चाहिए और आधार हर अकाउंट के लिए है। अगर आप नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं तो आप इसके जरिए भी अपने बैंक खाते को आधार से लिंक कर सकते हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कारोना विस्फोट पर ममता ने मांगा प्रधानमंत्री से इस्तीफा

कोविड वैक्सीन की कमी को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना सन्मार्ग संवाददाता बैरकपुर : बंगाल में विधानसभा चुनाव के बीच राज्य समेत देश भर में कोरोना आगे पढ़ें »

जिन राज्यों में चुनाव नहीं, वहां कोरोना के मामले अधिक : शाह

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना वायरस के रिकॉर्ड मामलों के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने चुनावी राज्‍यों में राजनीतिक रैलियों का बचाव किया है। शाह आगे पढ़ें »

कोरोना संकट के बीच रेलवे ने कसी कमर, चलाई जाएंगी ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ ट्रेनें

कितने दिनों में कोविड मरीज ठीक होते हैं या हालत हो जाती है खराब, 14 दिन की लिमिट का क्या है मतलब

बटन इतना ज़ोर से दबाना कि बटन यहां दबे और करंट दीदी को कोलकाता में लगे – अमित शाह

मरीज तड़पता रहा, भर्ती कराने गए परिजनों को डॉक्टर कैमरे के सामने ही पीटते रहे

अमृता सिंह के साथ अपने रिश्ते को लेकर करीना ने खोला बड़ा राज, कहा – मैं उनसे कभी नहीं………..

घर में सो रहा था शख्स, सिर काट कर साथ ले गया कातिल

घर आई टीचर को पहले जान से मारा फिर हाथ-पैर बांध किया सेक्स, पत्नी और बच्चों की भी…

AC की वजह से फैल सकता है कोरोना वायरस, Switch ON करने से पहले पढ़ें ये खबर

ऊपर