एबॅट ने भारत में पेश की नई डिजिटल सेवा

नई दिल्ली : दुनियाभर में सेवाएं देने वाली हेल्थकेयर कंपनी एबॅट ने अपने वैश्विक ए:केयर कार्यक्रम के तहत भारत में अपनी नई डिजिटल स्वास्थ्य सेवा शुरू करने की घोषणा की है। ए:केयर प्लेटफॉर्म डॉक्टरों और उपभोक्ताओं को अपनी सेवाएं और सूचनाओं से संबंधित जानकारियां उपलब्ध कराता है, ताकि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य प्राप्त करने में मदद मिल सके। भारत पहला देश है, जहां एबॅट ने डिजिटल प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है। इस तक ऑनलाइन www.acare.co.in पर या एंड्रॉइड प्ले स्टोर से डाउनलोड किए गए वेब ऐप के जरिए पहुंचा जा सकता है।

यह थेरेपीज के क्षेत्र में मरीजों और डॉक्टरों के बीच संवाद बढ़ाएगा। यह प्लेटफॉर्म कई तरह की स्वास्थ्य देखभाल की जरूरत वाले लोगों के लिए भी सहायक है। वहीं कंज्यूमर इसके जरिए स्वास्थ्य संबंधी शैक्षिक सूचनाएं पा सकते हैं या पॉइंट्स-आधारित प्रेरक कार्यक्रम में हिस्सा ले सकते हैं। यह कार्यक्रम उनके लिए अपने डॉक्टर द्वारा तय किए गए उपचार बराबर लेते रहने में मददगार होता है। भारत में एबॅट के फार्मास्यूटिकल व्यवसाय के प्रमुख जावेद जिया ने बताया कि स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं में यह व्याुपक बदलाव का दौर है। देश में क्रॉनिक रोग काफी बढ़ गए हैं और आबादी भी तेजी से बढ़ती जा रही है। इस लिहाज से, लोगों को इन स्वास्थ्य संबंधी चुनौतियों से निपटने में मदद करने वाली तकनीक-आधारित सेवाओं की जरूरत अब सबसे ज्यादा है।

आमतौर पर कई उभरते हुए बाजारों में प्रति 1,000 लोगों पर डॉक्टरों की संख्या आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (ओईसीडी) के औसत 2.8 से भी काफी कम है। मरीजों को मॉनिटर करने के लिए डाटा और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करने वाली उभरती हुई डिजिटल तकनीकों की बदौलत अब लक्षित शिक्षा और सटीक जानकारियां लोगों को स्वास्थ्य सेवा योजना के हर चरण में साथ मिलकर काम करने में सहायक हो सकती हैं। मुंबई स्थित हिंदुजा हॉस्पिटल में एंडोक्राइनोलॉजी सलाहकार और एंडोक्राइन सोसाइटी ऑफ इंडिया के पूर्व प्रेसिडेंट डॉ. मनोज चड्ढा ने बताया कि मरीजों के बीच रोगों को लेकर बढ़ती जागरूकता में डिजिटल तकनीक की भूमिका अहम होती जा रही है।
इस अवसर पर लीलावती हॉस्पिटल्स, मुंबई में स्पाइन सर्जन सलाहकार और एसोसिएशन ऑफ स्पाइन सर्जंस ऑफ इंडिया के पूर्व प्रेसिडेंट डॉ.राम चड्ढा ने कहा कि इस तरह का प्लेटफॉर्म हमारा क्लीनिक छोड़ने के बाद भी मरीजों के साथ जुड़े रहने में हमारी मदद करता है, ताकि हम उपचार लेते रहने और उनकी हालत को ठीक-ठीक समझने में उनकी मदद कर सकें। यह निरंतर निगरानी की आवश्यठकता वाले पुराने रोगों के दीर्घकालिक प्रबंधन में सहायक होता है। इसके अलावा, हमारे व्यस्त कार्यक्रम को देखते हुए ए:केयर चिकित्सा और वैज्ञानिक लेखों के लिए एक अच्छा संदर्भ है,जो हमारे काम के लिहाज से बेहद अहम है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

बीएसएन के इस प्रीपेड प्लान से 6 महीने तक जितनी मर्जी बात करें

नई दिल्ली : सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड ने यूजर्स के लिए 599 रुपये में नया प्रीपेड प्लान पेश किया है। यह प्लान उनके लिए है जो ज्यादा वैलिडिटी चाहते हैं। नए प्रीपेड प्लान में 180 [Read more...]

श्रीनगर: एलओसी पार से व्यापार पर रोक के खिलाफ व्यापारियों का प्रदर्शन

श्रीनगर : नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तान के साथ होने वाले व्यापार को रोकने के केंद्र सरकार के फैसले से प्रभावित व्यापारियों ने सोमवार को श्रीनगर में विरोध मार्च किया। उरी-मुजफ्फराबाद मार्ग पर एलओसी पार व्यापार में शामिल भारी [Read more...]

मुख्य समाचार

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, लोन सस्ते होने की उम्मीद

मुंबईः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.25% की कटौती की है। यह 6.25% से घटकर 6% हो गई है। मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की बैठक खत्म होने के बाद गुरुवार को ब्याज दरों की घोषणा की गई। [Read more...]

कांग्रेस का पूरा घोषणापत्र हिंदी में पढ़ें

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये सालाना, 22 लाख सरकारी नौकरियां, महिलाओं को आरक्षण, धारा 370 को न हटने देने और देशद्रोह की धारा हटाने सहित कई वादे किए। यहां क्लिक [Read more...]

आईपीएल फाइनल में बड़ा बदलाव, अब चेन्नई में नहीं बल्कि हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में होगा मुकाबला

बीएसएन के इस प्रीपेड प्लान से 6 महीने तक जितनी मर्जी बात करें

उपराष्ट्रपति ने आतंकवाद के खात्मे के लिये विश्व समुदाय से एकजुट होने की अपील की

राहुल लाएंगे ऐसी मशीन, आदमी डालो तो औरत निकलेगी: नंदकुमार चौहान

शुभ मुहूर्त के चलते साध्वी प्रज्ञा ने किया एक दिन पहले किया नामांकन

दो चीनी इंजीनियरों को 72 घंटे के अंदर भारत छोड़ने का मिला नोटिस

एशियाई चैम्पियनशिप : कविंदर बिष्ट ने विश्व चैम्पियन को हराया, पंघल भी सेमीफाइनल में

कंगाल होते पाकिस्तान को एफडीआई में सुधार से कुछ राहत

महबूबा मुफ्ती का पाकिस्तान प्रेमः कहा-हमारे न्यूक्लियर बम दिवाली के लिए नहीं तो, पाक के भी…

श्रीनगर: एलओसी पार से व्यापार पर रोक के खिलाफ व्यापारियों का प्रदर्शन

ऊपर