2021 तक शीतल पेय की प्रति व्यक्ति सालाना खपत होगी 84 बोतल: रिपोर्ट

नई दिल्ली : एक रिपोर्ट के मुताबिक 2021 तक शीतल पेय की सालाना प्रति व्यक्ति खपत 84 बोतल तक पहुंचने की उम्मीद है. पेप्सिको इंडिया के बॉटलिंग पार्टनर, वरुण बेवरेजेस लिमिटेड (वीबीएल) के मुताबिक 2016 में एक व्यक्ति सालाना औसतन 44 बोतल कोल्ड ड्रिंक पीता है. इसके 2021 तक बढ़कर 84 बोतल पर पहुंचे की संभावना है. वीबीएल की 2018 की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक शीतल पेय उद्योग में सभी श्रेणियों खासकर जूस और बोतलबंद पानी में व्यापक वृद्धि होगी.

वीबीएल की इस रिपोर्ट के मुताबिक जूस और बोतलबंद पानी की कम पहुंच, मध्यम वर्ग के लोगों की बढ़ती संख्या, किफायती होने और गाँवों का तेजी से शहरीकरण होने के करण सॉफ्ट ड्रिंक उद्योग में आने वाले समय में तेजी से वृद्धि होगी. रिपोर्ट के मुताबिक कार्बोनेट्स ड्रिंक के में खासकर लेमन आधारित ड्रिंक की डिमांड ज्यादा है. भारत में पेप्सिको की बिक्री में कार्बोनेट बेवरेज की 51 प्रतिशत हिस्सेदारी है. कंपनी का कहना है कि पानी से होने वाली बीमारियों को लेकर जागरुकता बढ़ रही है और साफ पानी के स्त्रोतों की कमी होने के कारण शहरी क्षेत्रों में पीने के पानी की किल्लत होने लगी है, जिससे बोतल बंद पानी की डिमांड बढ़ी है.

इन देशों में इतनी खपत
वीबीएल की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 2016 में सॉफ्ट ड्रिंक की प्रति व्यक्ति खपत 44 बोतल थी. यह अमेरिका जैसे बाजारों की तुलना में काफी कम है. अंमेरिका में प्रति व्यक्ति खपत 1,496 बोतल है. वहीं, मेक्सिको में प्रति व्यक्ति खपत 1,489 बोतल, जर्मनी में 1,221 बोतल और ब्राजील जैसे विकासशील देश में खपत 537 बोतल है. शीतल पेय की कम पहुंच की दिक्कत सही होने से 2021 तक प्रति व्यक्ति खपत दोगुनी होकर 84 बोतल पर पहुंचने की उम्मीद है.

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों में पीओके की आजादी के लिये ‘जुनून’ है : ठाकुर

जम्मू : केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर आगे पढ़ें »

पिछले पांच-छह साल में बढ़े हैं दलितों पर अत्याचार : प्रशांत भूषण

नयी दिल्ली : भीम आर्मी द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सामाजिक कार्यकर्ता व वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछले पांच-छह साल आगे पढ़ें »

ऊपर