2020 में वैश्विक अर्थव्यवस्था में आ सकती है संकुचन : आईएमएफ

imf

नई दिल्ली : कोरोना महामारी का वैश्विक अर्थव्यवस्था पर प्रभाव को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने 2020 में वैश्विक अर्थव्यवस्था में संकुचन की उम्मीद जताई है। आईएमएफ ने कहा है कि आर्थिक रिकवरी को लेकर बहुत अधिक अनिश्चितता नजर आ रही है। आईएमएफ के मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ने एक ब्लॉग में कहा है कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से उत्पन्न आर्थिक संकट का अधिक व्यापक असर दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर पड़ा है। उन्होंने कहा है कि विकसित बाजारों में सर्विस सेक्टर की हालत ज्यादा खराब है, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में फिर भी राहत है।

उन्होंने कहा कि वित्तीय बाजारों में काफी उतार-चढ़ाव और भारी गिरावट आ सकती है। वहीं अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के मैनेजिंग डायरेक्टर क्रिस्टालिना जियोर्जिवा ने पिछले महीने कहा था कि आईएमएफ 2020 में वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद में 3 फीसद के संकुचन के अपने पूर्वानुमान को डाउनग्रेड कर सकता है।

कई देशों में रिकवरी के संकेत
गोपीनाथ ने कहा कि कई देशों में रिवकरी के संकेत देखने को मिल रहे हैं, लेकिन संक्रमण फैलने और दोबारा लॉकडाउन लागू होने का अंदेशा भी बना हुआ है। विकसित देशों में बड़े पैमाने पर वित्तीय नीतिगतग उपाय हुए हैं, लेकिन गरीब देशों के समक्ष बड़ी समस्या है। उन्होंने कहा कि सरकारों को ऐसी नीति लानी चाहिए, जिसके तहत संकुचन वाले सेक्टर्स की मदद हो सके।

शेयर करें

मुख्य समाचार

छत्रधर महतो को हाई कोर्ट से मिली राहत 24 तक

एनआईए ने दायर की थी जमानत खारिज करने की रिट सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस टी बी राधाकृष्णन और जस्टिस अरिजीत बनर्जी के आगे पढ़ें »

…अगर आपको चाहिये अच्छी नींद तो ये खबर आपके लिये

कोलकाता : आज की भागदौड़ वाली जिंदगी में अनिद्रा की समस्या बहुत आम है। लेकिन इस बीमारी को हल्के में नहीं लेना चाहिए। क्योंकि कुछ आगे पढ़ें »

ऊपर