20 जनवरी से बैंकों की मुफ्त सेवाएं नहीं होंगी बंद

नई दिल्लीः भारतीय बैंक संघ (आईबीए) ने बैंकों की नि:शुल्क सेवाओं को समाप्त करने को लेकर सोशल मीडिया पर चल रही अफवाहों को आधारहीन और गलत बताते हुए स्पष्ट किया कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की नि:शुल्क सेवाओं में 20 जनवरी से कोई कमी नहीं की जा रही है, बल्कि बैंक व्यावसायिक एवं परिचालन लागत की लगातार समीक्षा करते हैं और मामलों के आधार पर शुल्क तय करते हैं। इसके साथ ही यह भी कहा है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से मौजूदा समय में शुल्क के संबंध में कोई दिशा निर्देश जारी नहीं किये गये हैं।
पूरी तरह से नहीं किया जा सकता समाप्त
सोशल मीडिया में इसे लेकर चल रही अफवाहों का पुरजोर तरीके से खंडन करते हुए आईबीए ने कहा कि जिस तरह की अफवाहें फैलाई जा रही हैं उस तरह से कभी भी नि:शुल्क सेवाओं को पूरी तरह समाप्त नहीं किया जा सकता है और न ही यह अपेक्षित है। आईबीए ने कहा कि बैंक व्यावसायिक एवं परिचालन लागत की लगातार समीक्षा करते रहते हैं और उसी के आधार पर एक-एक मद के शुल्क भी तय करते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जेके वॉल पुट्टी को मिली नई पहचान, जेके सीमेंट वॉलमैक्स के साथ हुआ लॉन्च

नई दिल्ली: भारत की प्रमुख सीमेंट कंपनी जेके सीमेंट ने अपने प्रतिष्ठित ब्रांड जेके वॉल पुट्टी के लिए एक ब्रांड रि-लॉन्च किया है, जिसका नाम आगे पढ़ें »

गुरु नानक के नाम पर भवन बनायेगी राज्य सरकार

कोलकाता : सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोषणा की कि सिख गुरुओं के पहले गुरु और सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक की 550वीं आगे पढ़ें »

ऊपर