स्वास्थ्य कर्मियों की रक्षा के लिए एम्स अपने एडवांस कोविड-19 वार्ड में मिलग्रो के रोबोट तैनात करेगा

नई दिल्ली : कोविड-19 का इलाज कर रहे स्वास्थकर्मियों में भी संक्रमित होने के मामले बढ़ते जा रहे हैं, स्वास्थककर्मियों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए भारतीय रोबोटिक्स ब्रांड मिलग्रो एम्स दिल्ली से साझेदारी की है, जिसके तहत एडवांस एआई-पावर्ड रोबोट – मिलग्रो आईमैप 9 और ह्यूमनॉइड ईएलएफ – का परीक्षण एम्स दिल्ली के एडवांस कोविड-19 वार्ड में किया जाएगा।

भारत में निर्मित मिलग्रो आईमैप 9 फर्श को कीटाणुरहित करने वाला रोबोट है जो बिना किसी मानवीय हस्तक्षेप के नेविगेट होता है और फर्श साफ कर सकता है। यह सोडियम हाइपोक्लोराइट घोल का उपयोग करके फर्श की सतह पर कोविड पोर्स को नष्ट कर सकता है, जिसकी अनुशंसा आईसीएमआर ने की है। यह रोबोट बिना गिरे खुद ही चलता है, एलआईडीएआर द्वारा गाइडेड और एडवांस एसएलएएम टेक्नोलॉजी से लैस है। मिलग्रो की पेटेंटेड रियल टाइम टैरेन रिकॉग्निशन टेक्नोलॉजी (आरटी2आरटी) 360 डिग्री, रियल टाइम में फ्लोर मैप बनाने के लिए प्रति सेकंड 6 गुना स्कैन करती है, वह भी 16 मीटर दूरी पर 8मिमी तक की सटीकता के साथ। यह आईमैप 9 को पहले प्रयास में सफलतापूर्वक प्रदर्शन करने में सक्षम बनाता है, जबकि अन्य रोबोट को इसमें दो से तीन गुना समय लग सकता है।

मिलग्रो ह्यूमनॉइड ईएलएफ के जरिये डॉक्टर बिना व्यक्ति-से-व्यक्ति के संपर्क के संक्रामक कोविड-19 रोगियों की निगरानी और बातचीत में कर सकते हैं, जिससे ट्रांसमिशन का जोखिम काफी कम रहता है। आइसोलेशन वार्डों में रोगी इस रोबोट के माध्यम से अपने परिजनों से भी बातचीत कर पाएंगे। ह्यूमनॉइड ईएलएफ वार्ड के चारों ओर स्वतंत्र रूप से नेविगेट हो सकता है और हाई डेफिनेशन वीडियो और ऑडियो में गतिविधियों को रिकॉर्ड कर सकता है।  एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने बताया कि नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में मिलग्रो फ्लोर रोबोट आईमैप 9.0 और मिलग्रो ह्यूमनॉइड को आजमाया जाएगा। 2007 से ऑपरेशनल मिलग्रो भारत में कंज्यूमर रोबोटिक्स स्पेस में सबसे आगे है। 2016 में इसके ह्यूमनटेक डिवीजन ने भारत के पहले ड्राई और वेट 3डी मैपिंग फ्लोर क्लीनिंग रोबोट सहित कई इंटेलिजें रोबोट सफलतापूर्वक लॉन्च किए हैं।

मिलग्रो के संस्थापक चेयरमैन राजीव कारवाल ने कहा कि अमेरिका, चीन और इटली जैसे देशों ने कोविड-19 रोगियों के इलाज में मानवीय हस्तक्षेप कम करने के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं में पहले ही एआई-बेस्ड रोबोटों का इस्तेमाल शुरू कर दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

नहीं होगी रणबीर की ‘ब्रह्मास्त्र’ रिलीज!

नई दिल्ली : एक्टर रणबीर कपूर की अपकमिंग फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' लंबे समय से चर्चा में हैं। फैंस भी इसके रिलीज का बेसब्री से इंतजार कर आगे पढ़ें »

राजस्थान सरकार केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ लायी विधेयक

जयपुर : केंद्र द्वारा हाल ही में पारित कृषि सम्बंधी तीन कानूनों का राजस्थान के किसानों पर असर 'निष्प्रभावी' करने के लिए राज्य सरकार ने आगे पढ़ें »

ऊपर