सोलर एनर्जी क्षेत्र की मुश्किलें होंगी खत्म, प्लांट लगाने के लिए तीन बड़ी कंपनियां आई आगे

नई दिल्ली : देश के बिजली सेक्टर में लगातार मुश्किलों के बाद अच्छा समय आया है। सोलर एनर्जी क्षेत्र में अनिश्चितताओं के कारण माहौल खराब हो रहा था। आपको बता दें कि मैन्यूफैक्चरिंग आधारित सोलर एनर्जी प्लांट लगाने की सरकार के प्रस्ताव के लिए तीन बड़ी कंपनियों ने निविदा भरी है। सरकार ने इस योजना के तहत 1,000 मेगावाट की सोलर योजना के लिए प्रस्ताव मांगे थे, लेकिन कुल 2,000 मेगावाट के लिए प्रस्ताव आए हैं। पिछले कई महीनों से केंद्र सरकार की तरफ से इस योजना के तहत जो निविदा जारी की जा रही थी, उसके प्रति कोई भी कंपनी उत्साह नहीं दिखा रही थी।

हालांकि निविदा की तारीख को कई बार बढ़ने के बाद भी कंपनियों ने उत्साह नहीं दिखाया था, लेकिन अब सोलर एनर्जी से जुड़ी कंपनियां भारतीय बाजार के प्रति आश्वस्त हो रही हैं। अडानी समूह की कंपनी एजीईएल ने 1,000 मेगावाट मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट और 4,000 मेगावाट का सोलर इनर्जी प्लांट लगाने के लिए प्रस्ताव भेजा है।

अजूरे पावर ने 500 मेगावाट क्षमता के लिए मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट व 2,000 मेगावाट की परियोजना और नवयुग ने 5,00 मेगावाट की मैन्यूफैक्चरिंग और 2,000 मेगावाट क्षमता की परियोजना लगाने का प्रस्ताव भेजा है। सौर उर्जा में घरेलू उद्योग को बढ़ावा देने की सरकार की नीति अब काम करती दिख रही है। यह देश में सोलर पैनल उद्योग की मजबूत जमीन तैयार करेगा. क्योंकि उक्त निविदा को हासिल करने वाली कंपनियों को मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत घरेलू स्तर पर सोलर पैनल व सौर ऊर्जा प्लांट में इस्तेमाल होने वाले अन्य उपकरणों की मैन्यूफैक्चरिंग करनी होगी।

ये कंपनियां इन निविदाओं को पूरा करने के लिए 6,000 करोड़ रुपये का नया निवेश करेंगी ही साथ ही ये प्लांट सीधे तौर पर 10 हजार नई नौकरियां देंगे और 40 हजार लोगों को परोक्ष तौर पर भी रोजगार मिलेगा। आपको बता दें कि भारत अभी सोलर प्लांट में इस्तेमाल होने वाले 95 फीसद उपकरण चीन से आयात करता है और इस पर सालाना 10 अरब डॉलर की राशि का खर्च आता है।

इन तीनों कंपनियों की परियोजनाओं के माध्यम से देश में सोलर प्लांट मैन्यूफैक्चरिंग का बड़ा उद्योग खड़ा हो सकता है। हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत रिन्युअल एनर्जी के जरिये देश में 4.50 लाख मेगावाट बिजली पैदा करने की क्षमता रखता है, जिसका दोहन होना चाहिए।

 

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

”राम मंदिर निर्माण में अब कोई बाधा नहीं”- विहिप अध्यक्ष

इंदौर (मध्यप्रदेश) : शीर्ष न्यायालय द्वारा गुरुवार को अयोध्या मामले में दायर पुनर्विचार याचिकाएं खारिज करने के निर्णय का विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय आगे पढ़ें »

सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक बाइक होगी लॉन्च, फुल चार्ज में दौड़ेगी 150 किमी

नई दिल्ली : इलेक्ट्रिक स्कूटर तथा बाइक बनाने वाली कंपनी ओकिनावा भारत में कम कीमत वाली नई इलेक्ट्रिक बाइक लॉन्च करने जा रही है। कंपनी आगे पढ़ें »

ऊपर