सेवा क्षेत्र सुधार की राह पर लौटा

नयी दिल्लीः दिसंबर में भारत का सेवा क्षेत्र मामूली वृद्धि लेकर फिर से हल्की वृद्धि की राह पर लौट आया। एक मासिक सर्वेक्षण में कहा गया है कि दिसंबर में कंपनियों के नए आर्डर में कुल मिला कर टिकाऊपन दिखा। इसी हफ्ते आई विनिर्माण पीएमआई रपट के अनुसार दिसंबर में देश के विनिर्माण क्षेत्र ने काफी प्रगति की है। विनिर्माण पीएमआई इंडेक्स दिसंबर में बढ़कर 54.7 रहा जो नवंबर में 52.6 था। इस प्रकार देश के दोनों क्षेत्र का संयुक्त निक्की इंडिया कंपोजिट पीएमआई आउटपुट इंडेक्स दिसंबर में सुधरकर 53.0 रहा है जो नवंबर में 50.3 था। अक्टूबर 2016 के बाद का यह उच्चतम स्तर है।

औसत से कम

कारोबार में रफ्तार दिसंबर में जरूर दिखी पर यह रफ्तार अभी इस रपट की शुरुआत से अब तक वर्षों के औसत से कम है। सेवा कंपनियों के परचेजिंग मैनजरों के बीच कराए जाने वाले इस सर्वेक्षण (पीएमआई) में दिसंबर माह का बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स यानी कारोबार गतिविध सूचकांक सुधर कर 50.9 रहा है जो नवंबर में 48.5 था। पीएमआई का 50 से ऊपर रहना कारोबार में विस्तार और इससे नीचे रहना संकुचन को दर्शाता है।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ

आईएचएस मार्किट की अर्थशास्त्री और रपट लेखिका आशना डोढिया ने कहा, भारत के सेवा क्षेत्र में सुधार के संकेत दिखे हैं। दिसंबर में इसमें मामूली बढ़त देखी गई है। हालांकि यह अभी भी कमजोर वृद्धि की राह पर बना हुआ है। रपट बताती हैं कि माल एवं सेवाकर (जीएसटी) नए ग्राहकों को बांधने के प्रयासों में अभी भी बाधा बन रहा है। आशना ने कहा कि अक्टूबर 2016 के बाद देश की संपूर्ण अर्थव्यवस्था का प्रदर्शन सर्वश्रेष्ठ रहा है। इससे पता चलता है कि जीएसटी और नोटबंदी के बाद देश की अर्थव्यवस्था प्रगति कर रही है। दोनों क्षेत्रों के श्रम बाजार में रोजगार सृजन की दृष्टि से सुधार दिखाई देता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भारतीय टीम मुझ पर निर्भर नहीं, कई खिलाड़ी मुझसे बेहतर : छेत्री

कोलकाता : भारत के लिए रिकार्ड गोल करने वाले सुनील छेत्री पर बांग्लादेश के खिलाफ मंगलवार को होने वाले विश्व कप क्वालीफायर मुकाबले में गोल आगे पढ़ें »

आईसीसी टेस्ट रैंकिंग : स्मिथ के करीब पहुंचे कोहली

कोहली ने 37 अंकों की लम्बी छलांग लगायी, नंबर वन बनने से दो अंक पीछे दुबई : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पुणे में दक्षिण अफ्रीका आगे पढ़ें »

ऊपर