सेंसेक्स की टॉप 7 कंपनियों का मार्केट कैप बढ़ा

नई दिल्ली : भाजपा की भारी मतों से जीत के बीच शेयर बाजारों में तेजी से सेंसेक्स की शीर्ष दस कंपनियों में सात का बाजार पूंजीकरण 1.42 लाख करोड़ रुपये बढ़ा है। चुनाव परिणामों की घोषणा के बाद बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स कारोबार के दौरान 40,124.96 अंक के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था। शुक्रवार को सप्ताह में सेंसेक्स की शीर्ष दस कंपनियों में सात का बाजार पूंजीकरण (एम-कैप) कुल मिलाकर 1,42,468.1 करोड़ रुपये बढ़ा, आरआईएल का एम-कैप 45,069.66 करोड़ रुपये बढ़कर 8,47,385.77 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

वहीं स्टेट बैंक (एसबीआई) का एम-कैप 31,816.24 करोड़ रुपये की बढ़त के साथ 3,16,466.72 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण 26,586.43 करोड़ बढ़कर 2,78,269.34 करोड़ रुपये और एचडीएफसी का एम-कैप 23,024.22 करोड़ रुपये चढ़कर 3,66,235.80 करोड़ रुपये हो गया, जबकि कोटक महिंद्रा बैंक पूंजीकरण 10,157.84 करोड़ रुपये बढ़कर 2,88,981.46 करोड़ रुपये जबकि हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड (एचयूएल) का एम-कैप 2,911. 52 करोड़ रुपये बढ़कर 3,78,650.09 करोड़ रुपये और एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 2,902.17 करोड़ रुपये बढ़कर 6,46,462. 22 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

अन्य कंपनियां टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का बाजार पूंजीकरण 17,523.6 करोड़ रुपये गिरकर 7,69,107.53 करोड़ रुपये, आईटीसी का एम-कैप 13,791 करोड़ रुपये फिसलकर 3,55,684.20 करोड़ रुपये और इंफोसिस का पूंजीकरण 6,269.42 करोड़ रुपये गिरकर 3,09,953.84 करोड़ रुपये रह गया। वहीं शीर्ष दस कंपनियों की रैंकिंग में रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले पायदान पर रही। इसके बाद टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एचडीएफसी, आईटीसी, भारतीय स्टेट बैंक, इंफोसिस, कोटक महिंद्रा बैंक और आईसीआईसीआई का स्थान है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मरकज में तबलीगी जमात में शामिल हुए बंगाल के 71 लोगों की पहचान कर ली गई है : ममता 

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी  ने बुधवार को बताया कि कुल 71 लोग  बंगाल से निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने के लिए आगे पढ़ें »

ममता ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, मांगी 25 हजार करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बुधवार को पत्र लिखकर 25,000 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता मांगी है आगे पढ़ें »

ऊपर