सिमेंस इंडिया को मिला 7000 करोड़ रुपये का ऑर्डर

नई दिल्ली : कैपिटल गुड्स क्षेत्र की बड़ी कंपनी सिमेंस इंडिया आने वाले दिनों में बिजली क्षेत्र, इंडस्ट्रियल डिजिटलाइजेशन और शहरी इंफ्रास्ट्रक्चर पर खास ध्यान देगी। सीमेंस एनर्जी मैनेजमेंट, टेक्नालॉजी, मोबिलिटी और डिजिटाइजेशन के अलावा सॉल्युशंस देने और स्मार्ट इंफ्रा बनाने पर भी सीमेंस इंडिया का काफी जोर है। कंपनी ने कारोबार के डिजिटलाइजेशन पर पूरा फोकस किया है और कंपनी के गुरुग्राम, नोएडा, पुणे में सेंटर है। इस तिमाही में कंपनी को 7000 करोड़ रुपये के ऑर्डर मिले हैं।

सीमेंस इंडिया के एमडी और सीईओ सुनील माथुर ने बताया कि इनोवेशन डे पर हम डिजिटलाइजेशन की बात कर रहे हैं। ये उन उपयोग पर आधारित है, जिन्हें हम वास्तव में क्रियान्वित कर चुके हैं। इसलिए हम इन पर व्यवहारिक रूप से अच्छी तरह बोल सकते हैं, न कि सिर्फ सैद्धान्तिक रूप से। इनोवेशन डे पर हम दिखा रहे हैं कि हम बिजली क्षेत्र में और इंडस्ट्रियल डिजिटलाइजेशन के क्षेत्र में नई तकनीक को अपनाकर क्या-क्या कर सकते हैं।

सीमेंस इंडिया ने मार्च 2019 को समाप्त तिमाही के दौरान शुद्ध लाभ में 27. 6 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की है। कंपनी का शुद्ध लाभ 280.3 करोड़ रुपये हो गया है और इस दौरान उसकी आय पिछले साल इसी तिमाही के मुकाबले 9.4 प्रतिशत बढ़कर 3,461 करोड़ रुपये हो गई। कंपनी को समीक्षाधीन अवधि के दौरान 3,635 करोड़ रुपये के नए ऑर्डर मिले हैं। यह पिछले वित्त वर्ष की मार्च तिमाही से 24. 3 प्रतिशत अधिक है। सीमेंस के मुताबिक कंपनी को ग्राहकों से डिजिटलीकृत पोर्टफोलियो के लिए मांग में तेजी दिखाई दे रही है। सीमेंस भारत में जर्मनी की कंपनी सीमेंस एजी की प्रमुख सूचीबद्ध कंपनी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों को मेरे खेल के खत्म होने के बारे में लिखने की आदत है, मुझे फर्क नहीं : सुशील

नयी दिल्ली : दिग्गज पहलवान सुशील कुमार उम्र के ऐसे पड़ाव पर है जहां ज्यादातर खिलाड़ी संन्यास की घोषणा कर देते है लेकिन ओलंपिक में आगे पढ़ें »

कोरोना से हुए नुकसान को कम करने के लिए सरकार जल्द नए राहत पैकेजों की घोषणा करेगी

नई दिल्ली : कोरोना के कारण हुए लॉक डाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। वित्त मंत्रालय लगातार राहत पैकेज पर आगे पढ़ें »

ऊपर