सरकार ने दिया मौका, सस्ते में इस तारीख तक खरीद सकते हैं सोना

नई दिल्ली : सरकार ने सोने में निवेश का सुनहरा मौका दिया है। सरकार की सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम का सातवां चरण शुरू हो गया है और निवेशक शुक्रवार तक योजना के इस चरण में निवेश कर सकते हैं, यह 2 दिसंबर से 6 दिसंबर तक चलेगा। इसके बाद 10 दिसंबर को बॉन्ड जारी किए जाएंगे।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के इस चरण के लिए बॉन्ड की इश्यू प्राइस 3,795 रुपये प्रति ग्राम रखी गई है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के लिए इन्वेस्टर्स द्वारा ऑनलाइन आवेदन करने पर और डिजिटल मोड में पेमेंट करने पर 50 रुपये प्रति ग्राम का अतिरिक्त डिस्काउंट भी रखा गया है। इसमें ऑनलाइन निवेश करने वाले ग्राहकों के लिए डिस्काउंट के बाद एक ग्राम सोने की कीमत 3,745 रुपये रह जाएगी।

क्या है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना
यह योजना नवंबर 2015 में लॉन्च की गई थी, जिसका उद्देश्य फिजिकल गोल्ड की डिमांड को कम करना था। इसमें इन्वेस्टर्स को प्रति ग्राम सोने में इन्वेस्टमेंट का मौका मिलता है, जिसका मूल्य इस बुलियन की बाजार कीमत से जुड़ा होता है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के मैच्योर होने पर इसे नकदी में भुनाया जा सकता है।

यहां से कर सकते हैं खरीदारी
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की बिक्री स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, शेड्यूल्डॉ कॉमर्शियल बैंकों और कुछ डाकघरों व बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज जैसे एक्सचेंजों से भी की जा सकती है। इसमें निवेश की न्यूनतम सीमा एक ग्राम है। इस योजना में इंडिविजुअल और हिंदू अविभाजित परिवार के लिए निवेश की सीमा 4 किलोग्राम है। वहीं ट्रस्ट के लिए निवेश की सीमा 20 किलोग्राम तय है।

आठवां चरण अगले साल
इस स्कीम का आठवां चरण 13 से 17 जनवरी 2020 में होगा। इस चरण के बॉन्ड 21 जनवरी 2020 को इश्यू होंगे, जिसके बाद स्कीम का नौवां चरण 3 से 7 फरवरी 2020 के बीच होगा, जिसमें बॉन्ड 11 फरवरी को जारी होंगे। दसवां चरण 2 से 6 मार्च 2020 को होगा और इसके बॉन्ड 11 मार्च 2020 को जारी होंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘तांडव’ पर बवाल : वेब सीरीज के खिलाफ एफआईआर दर्ज, हो सकती है इनकी गिरफ्तारी

मुंबई : हिंदू देवी-देवताओं के अपमान और हिंदुं की भावनाओं को आहत पहुंचाने को लेकर विवादों में घिरी वेब सीरीज 'तांडव' की मुश्किलें बढ़ती जा आगे पढ़ें »

भाजपा का शाहनवाज हुसैन के ‘तीर’ से ‘टीएमसी’ पर निशाना

पटनाः 2020 बिहार विधानसभा चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करने वाली बीजेपी अब पूरी तरह से बंगाल चुनाव पर केंद्रित है। बीजेपी के रणनीतिकारों ने बिहार आगे पढ़ें »

ऊपर