सरकार ने कहा काल ड्रॉप पर नहीं चलेगा बहाना

नयी दिल्लीः दूरसंचार विभाग ने दूसंचार कंपनियों को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि वे कॉल ड्रॉप की बढ़ती समस्या के लिए इस तरह के बहाने नहीं बना सकतीं कि मोबाइल टावर लगाने में दिक्कत आ रही है।

मिलकर करें काम

विभाग ने कंपनियों से कहा है कि वे इस मुद्दे के समाधान के लिए मिलकर काम करें। दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन ने कहा कि दूरसंचार विभाग 21 जनवरी के बाद इस बारे में कंपनियों के साथ बैठक करेगा। यह बैठक मोबाइल सेवाओं की गुणवत्ता के बारे में दूरसंचार नियामक ट्राई की रपट आने के बाद होगी। सुंदरराजन ने कहा, ‘सरकार कॉल ड्रॉप व सेवाओं की गुणवत्ता को लेकर बहुत चिंतित है। हम उद्योग जगत को यह बताना चाहते हैं कि यही स्थिति बनी नहीं रह सकती और उन्हें सुधारात्मक कदम उठाने होंगे।’ टावर लगाने में मोबाइल कंपनियों को हो रही दिक्कतों को स्वीकार करते हुए उन्होंने कहा कि इसे कॉल ड्रॉप के लिए बहाना नहीं बनाया जा सकता।

उन्नयन के लिए निवेश

उन्होंने कहा कि कंपनियों को बुनियादी ढांचे के उन्नयन के लिए निवेश करना होगा। दूरसंचार विभाग ने राज्यों में दूरसंचार बुनियादी ढांचे से जुड़े मुद्दों को उठाया है। उल्लेखनीय है कि दूरसंचार नियामक ने कॉल ड्रॉप को लेकर नये नियम एक अक्टूबर से लागू किए। दिसंबर को समाप्त तिमाही के लिए इन नये नियमों के तहत पहली रपट आनी है। कॉल ड्रॉप से आशय मोबाइल से बात करते समय फोन कॉल का अचानक कट जाने से है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मय बंद्योपाध्याय ने जेल से रिहा होते ही बताया जान को खतरा

कहा राज्य में चल रहा जंगल राज संवाददाताओं से बातचीत के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे सन्मार्ग संवाददाता पुरुलिया : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किये जाने के कथित आगे पढ़ें »

दीपावली पर ड्रोन से नजर रखेगा पीसीबी ऊंची इमारतों पर

प्रतिबंधित पटाखे जलाने पर आवासन के अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई वसूला जाएगा 5 हजार से लाख रुपए तक का जुर्माना दोषी पाए जाने पर होगी 5 साल आगे पढ़ें »

ऊपर