संभावनाओं का सागर है भारतः डॉ बर्नाड

कोलकाताः मैं भारत आया ताे लोगों ने मुझसे पूछा, क्या है भारत में? ताे मैंने कहा, संभावनाओंं का सागर, प्रगतिशील और तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्‍था है भारत। यह कहना है वर्ल्ड बैंक के इंफ्रास्ट्रक्चर-लॉजिस्टक विशेषज्ञ डॉ बर्नाड एरिटवा का। स्‍थानीय होटल में शुक्रवार को भारतीय उद्योग परिसंघ्‍ा (सीआईआई) के तत्वावध्‍ाान में आयोजित 9वें ‘लाजिस्टक चर्चासत्र-2016’ में वे भारत में लॉजिस्टक परिदृश्य के परिप्रेक्ष्य में बोल रहे थे। जिसका संचालन सीआईआई (लाॅजिस्टक) के चेयरमैन आनंद सेन ने किया।

इस अवसर पर बर्नाड ने कहा, 2007 के बाद से लॉजिस्टक के क्षेत्र में भारत बेहतर हुआ है। शहरीकरण के विकास आैर उत्पादकता से लॉजिस्टक के क्षेत्र में और संभावनाएं बनेंगी। इसके अलावा तकनीकी क्षेत्र में प्रगति से कई दिक्कतों का समाधान होगा। इसके लिए मल्टीमॉडल नेटवर्क की स्वीकार्यता पर जोर देना होगा।

‘इको फ्रेंडली’ रेलवे लॉजिस्टक

इस अवसर पर पूर्वी रेलवे के अतिरिक्त महाप्रबंधक सतीश कुमार ने कहा, रेलवे लॉजिस्टक को सुचारू रखने के लिए पूर्वी रेलवे ने कई पहल की हैं। फिलहाल वातावरण के अनुकूल रेल परिवहन का विस्तार करने पर हमारा ध्यान है। लॉजिस्टक क्षेत्र से रेलवे की आय के लिए माल के लिए नए स्‍त्रोंतों की पहचान के लिए बोर्ड नीतियां तय करेगा। यात्रियों के ‌लिए दीपावली औ छठ जैसे त्योहारों पर स्पेशल ट्रेन चलाना और उन्‍हें बेहतर टिकटिंग सुविधा देने पर जोर होगा। इसके अलावा कैटरिंग, पार्सल बिजनेस, पार्किंग कॉन्ट्रेक्ट और खर्चों में कटौती से रेलवे की आय में वृद्धि की जाएगी।

अर्थव्यवस्‍था में बंदरगाह लॉजिस्टक अहम

लॉजिस्टक के महत्वपूर्ण क्षेत्र बंदरगाह के बुनियादी ढांचे पर बोस्टर कंसल्टिंग ग्रुप के वरूण बोपन्ना ने कहा, भारत में पश्चिम बंगाल में एलपीआई (लॉजिस्टक परफॉर्मिंग इंडेक्स) रैंकिंग में काफी सुधार हुआ है। भारतीय अर्थव्यवस्‍था में बंदरगाह लॉजिस्टक काफी अहम भूमिका निभाती है। प्रमुुख्‍ा बंदरगाहों का ज्यादा उपयोग कर लॉजिस्टक के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन किया जा सकता है।

रोड लॉजिस्टक के लिए जटिलताएं

रोड लॉजिस्टक के लिए नए मॉडल्स की आवश्यकताओं पर जोर देते हुए रिविगो के उपाध्यक्ष अभिषेक मोहन ने कहा कि भारत में इसके लिए काफी जटिलताएं हैं। इसके समाधान के लिए कड़े निर्णय लेने की जरूरत है। रोड लॉजिस्टक में सबसे बड़ी बाधा है राज्यों की सीमाओं की औपचारिकताएं, जो सबसे ज्यादा समय की बर्बादी का भी कारण है। फिर टोल पर भी यही स्थिति बनती है। उन्होंने कहा कि हम रोड लॉजिस्टक की दशा और दिशा सुधारने और इन चुनौतियों से निपटने के लिए ‘यूनिक ड्राइवर रिले मॉडल’ के उपयोग पर काम कर रहे हैं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

मारुती सुजुकी ने घटाई उत्पादन, जानिए क्या है वजह…

नई दिल्ली : देश की बड़ी कार विनिर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने मांग में कमी आने के कारण पिछले महीने फरवरी में अपना उत्पादन आठ प्रतिशत घटाया है. कंपनी ने शेयर बाजार में सुचना भेजी है, जिसमें कहा [Read more...]

चीन के खिलाफ देशभर में व्यापारियों का प्रदर्शन, जलाई चीनी सामान की होली

नई दिल्ली : हाल ही मैं चीन द्वारा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में चौथी बार मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने पर वीटो का उपयोग करने और एक लंबे अर्से से पाकिस्तान की हर प्रकार की मदद करने पर [Read more...]

मुख्य समाचार

सोशल मीडिया पर भी आचार संहिता लागू, सोशल मीडिया का चुनावी दुरुपयोग रोकने की कोशिश

नई दिल्लीः चुनाव आयोग ने मंगलवार को सोशल मीडिया कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ लोकसभा चुनाव के दौरान सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के विकल्पों पर चर्चा करने के लिए अहम बैठक बुलाई थी। जिसमें कंपनियों ने चुनाव के [Read more...]

जर्मनी यूरोपीय संघ में मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करवायेगा

नई दिल्ली : जर्मनी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को यूरोपीय संघ (ईयू) में वैश्विक आतंकवादी घोषित करवाना चाहता है। इसके लिये उसने संघ के सदस्य देशों के साथ संपर्क करना शुरू कर दिया है। मसूद पर प्रतिबंधित को [Read more...]

ऊपर