शेयर बाजारों में लगातार पांचवें दिन तेजी

मुंबई : शेयर बाजारों में मंगलवार को लगातार पांचवें कारोबारी सत्र मे तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी दोनों बढ़त के साथ बंद हुए। वित्तीय कंपनियों के शेयरों में लिवाली से बाजार में तेजी रही। निवेशक देश में कोविड-19 मामलों में वृद्धि पर ध्यान देने के बजाए बेहतर मानसून जैसी सकारात्मक बातों पर पर गौर कर रहे हैं। उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स मंगलवार को 187.24 अंक यानी 0.51 प्रतिशत मजबूत होकर 36,674.52 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 36 अंक यानी 0.33 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,799.65 अंक पर बंद हुआ।
ये रहे सर्वाधिक लाभ में
सेंसेक्स के शेयरों में बजाज फाइनेंस सर्वाधिक लाभ में रहा। इसमें करीब 8 प्रतिशत की तेजी आयी। इसके अलावा इंडसइंड बैंक, बजाज फिनसर्व, इन्फोसिस, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और एचसीएल टेक में भी तेजी रही। दूसरी तरफ एनटीपीसी, आईटीसी, पावरग्रिड और टाटा स्टील के शेयर नुकसान में रहे। एलकेपी सिक्युरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा, ‘वित्तीय कंपनियों के शेयरों की अगुवाई में बाजार में तेजी आयी है। बेहतर मानसून से भी अच्छा माहौल बना है। वाहनों के कल-पुर्जे बनाने वाली और कृषि उपकरण बनाने जैसी कंपनियां उत्साहित हैं। इसको देखते हुए निवेशकों की भागीदारी बढ़ी है।’
तनाव कम का प्रभाव
विश्लेषकों के अनुसार भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर तनाव कम होने से भी बाजार पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। कारोबारियों के अनुसार घरेलू निवेशकों ने वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख को महत्व नहीं दिया और लगातार विदेशी पूंजी प्रवाह जैसी सकारात्मक बातों पर ध्यान दिया है।
निवेशकों की धारणा पर असर पड़ेगा
शेयर बाजार के पास उपलब्ध अस्थायी आंकड़े के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक सोमवार को पूंजी बाजार में शुद्ध खरीदार रहे और 348.35 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे। हालांकि, विशेषज्ञों ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए आगाह किया है। उनका कहना है कि इससे निवेशकों की धारणा पर असर पड़ सकता है।
20,160 लोगों की हुई मौत
स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार देश में कोरोना वायरस संक्रमण मामलों की संख्या बढ़कर 7,19,665 पर पहुंच गयी जबकि 20,160 लोगों की मौत हो चुकी है। वैश्विक स्तर पर संक्रमित मामलों की संख्या 1.16 करोड़ पर पहुंच गयी है जबकि 5.38 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। दुनिया के अन्य बाजारों में चीन में शंघाई मामूली बढ़त के साथ बंद हुआ जबकि हांगकांग में गिरावट रही। जापान के तोक्यो और दक्षिण कोरिया के सोल बाजारों में भी गिरावट दर्ज की गयी। शुरूआती कारोबार में यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में भी गिरावट का रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा का भाव 1.02 प्रतिशत घटकर 42.66 डॉलर प्रति बैरल रहा। वहीं, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 25 पैसे टूटकर 74.93 पर बंद हुआ।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 वायरस के प्रभावी लक्षण दिखन में लगते हैं आठ दिन : वैज्ञानिक

नयी दिल्ली : बड़ी संख्या में कोविड-19 के मरीजों से प्राप्त सैंपल्स की जांच तथा नये अध्ययनों और उनके विश्लेषण करने के उपरांत वैज्ञानिक इस आगे पढ़ें »

कोल इंडिया ने उत्पादन लक्ष्य घटाकर किया 65-66 करोड़ टन

कोलकाता : सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) ने कोविड-19 महामारी की वजह से पैदा हुई अड़चनों के मद्देनजर चालू वित्त वर्ष 2020-21 आगे पढ़ें »

पश्चिम बंगाल की 20 अरब डॉलर आकार की लॉजिस्टिक्स क्षेत्र की नीति तैयार, जल्द उद्योग के लिये जाएंगे विचार : अमित मित्रा

कोरोना काल में आर्थिक परेशानी से घिरी मुंबई में जूनियर टेबल टेनिस खिलाड़ी स्वस्तिका घोष

अब लक्ष्य 2022 विश्व कप है, लेकिन श्रृंखला दर श्रृंखला प्रदर्शन देखूंगी : झूलन गोस्वामी

धोनी आईपीएल में अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में होंगे: मांजरेकर

घोर लापरवाही, 18 घंटे घर में पड़ा रहा कोरोना संक्रमित का शव

अभिषेक बच्चन की कोविड टेस्ट रिपोर्ट 28 दिन बाद आयी निगेटिव

narvane

किसी भी हालात के लिए तैयार रहें कमांडर : नरवणे

पुरी ने 10-10 लाख रुपए मुआवजे देने का किया ऐलान, राज्य सरकार भी देगी इतना ही मुआवजा

ऊपर