वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था को राहत देने के लिए किए कई ऐलान, बाजार में दिवाली से पहले आईं खुशियां

nirmala

नई दिल्ली :  मंदी की समस्या से राहत देने के लिए वित्तमंत्री निर्मला सीतारामण ने घरेलू कंपनियों और नई घरेलू मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के लिए कॉरपोरेट टैक्स  की दरों में कटौती का प्रस्ताव रखा है। वित्तमंत्री ने नई घरेलू कंपनियों के लिए कॉरपोरेट टैक्स को घटाकर 22 फीसदी कर दिया है, जिसके बाद शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली। कॉरपोरेट ने इसे अर्थव्यवस्था के लिए बड़ा कदम बताया है।

एचडीएफसी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और उपाध्यक्ष केकी मिस्त्री ने कहा कि सरकार के इस ऐलान से निश्चित ही देश की अर्थव्यवस्था में गति आएगी। इकोनॉमी में आई सुस्ती इससे दूर होगी। नई कंपनियों को इसका सबसे ज्यादा फायदा मिलेगा। इकोनॉमी ग्रोथ में हाल के दिनों में आई हर समस्या दूर होगी। नई कंपनियां भारत आएंगी और इससे बड़े पैमाने पर रोजगार भी तैयार होंगे।

सरकार के ऐलान के बाद बाजार में दिवाली से पहले ही खुशियां आ गई हैं। वहीं वित्त मंत्री ने भी कॉरपोरेट टैक्‍स घटाने का ऐलान किया है, जिसे अध्‍यादेश लाकर कम किया जाएगा। इसके लिए आयकर एक्ट में बदलाव भी किए गए हैं। कोई भी नई घरेलू कंपनी जिसका गठन 1 अक्टूबर, 2019 या उसके बाद हुआ हो और जो नए सिरे से निवेश कर रही है, वह 15 फीसदी के दर से आयकर का भुगतान करेगी।

साथ ही मैन्‍युफैक्‍चरिंग कंपनियों के लिए भी टैक्‍स घटाया गया है। घरेलू कंपनियों पर बिना किसी छूट के इनकम टैक्स 22 फीसदी होगा, जबकि सरचार्ज और सेस जोड़कर प्रभावी दर 25.17 फीसदी हो जाएगी। हालांकि सरकार को इस ऐलान के बाद 1.45 लाख करोड़ का राजस्‍व घाटा होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोनम वांगचुक के चीनी उत्पादों के बहिष्कार अभियान को व्यापारियों का मिला समर्थन

नई दिल्ली : कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा है कि देश के सात करोड़ व्यापारी लद्दाख के शैक्षिक सुधारक सोनम वांगचुक के आगे पढ़ें »

पूर्व पाक कप्तान हनीफ का दावा, 1983 में हॉकी टीम के सदस्‍य तस्‍करी में लिप्‍त थे 

कराची : पाकिस्तान के पूर्व हॉकी कप्तान हनीफ खान ने आरोप लगाया कि 1983 में हांगकांग से वापस आते समय उनकी टीम के कुछ खिलाड़ियों आगे पढ़ें »

ऊपर