नए नियम से हिली वॉलमार्ट, तोड़ सकती है फ्लिपकार्ट से नाता, अमेजन ने कहा- भारत में कारोबार के अच्छे अवसर

नई दिल्लीः भारत सरकार के रिटेल सेक्टर में एफडीआई को लेकर किए गए बदलाव से ऑनलाइन कंपनिया आहत है। इस वजह से फ्लिपकार्ट, अमेजन जैसी कंपनियों के बिक्री पर असर पड़ रहा है। इसके तहत इन कंपनियों ने अपने कई उत्पादों को ऑनलाइन बाजार से हटा लिए हैं। वहीं, वॉल स्ट्रीट दिग्गज मॉर्गन स्टैनली ने आशंका जताई है कि अगर ऐसे ही हालात रहे तो जल्द ही वॉलमार्ट फ्लिपकार्ट से नाता तोड़ भारत से वापस लौट सकती है। कंपनी फ्लिपकार्ट को किसी दूसरे के हाथ में बेचकर भारतीय बाजार से बाहर निकल जाएगी। इससे पहले साल 2017 में अमजेन कंपनी ने चीन में अपना कारोबर बंद कर दिया था। वहीं, फ्लिपकार्ट के प्रवक्ता का कहना है कि नई एफडीआई पॉलिसी को लागू करने में सरकार ने जल्दबाजी दिखाई, जिससे हमें निराशा हुई है। लेकिन हम नए नियमों को लागू करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
बता दें, पिछले साल अगस्त महीने में ही खुदरा कारोबार क्षेत्र की दिग्गज अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट इंक ने भारत के फ्लिपकार्ट में 77 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी। इसके बाद कंपनी का मालिकाना हक वॉलमार्ट के पास है।

25 फीसदी उत्पादों को बाहर करना होगा
नए नियमों के अनुसार फ्लिपकार्ट को अपने करीब 25 फीसदी उत्पादों को बाहर करना होगा। इसके साथ ही फ्लिपकार्ट और अमेजन के सप्लाई चेन और एक्सक्लूसिव डील पर भी असर पड़ा है। इन दोनों कंपनियों को इस तरह से 50 फीसदी की आमदनी होती थी। फ्लिपकार्ट की सबसे ज्यादा आमदनी मोबाइल सेल और इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के जरिए होती थी।
अमेरिका की ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन का कहना है कि भारतीय बाजार में कारोबार के अच्छे अवसर हैं लेकिन वह ऑनलाइन मार्केटप्लेस के लिए नई एफडीआई नियमों का आंकलन कर रही है। कंपनी ने कहा कि उसके प्लेटफार्म पर ग्राहकों और विक्रेताओं को किसी तरह के अवांछित परिणामों का सामना न करना पड़े इसलिए वह ऐसा कदम उठा रही है।

5 अरब डॉलर का निवेश करेगा अमेजन
एक फरवरी से नए नियम लागू होते ही अमेजन ने अपने ऑनलाइन मार्केट से मोबाइल एसेसरीज और बैटरी समेत कई उत्पादों को हटा दिया है। ग्रॉसरी उत्पादों की आपूर्ति करने वाली पैंट्री सेवा भी अब देश में अनुपलब्ध हो गई है। हालांकि अमेजन ने भारत में 5 अरब डॉलर के निवेश की प्रतिबद्धता जताई है। कंपनी ने कहा कि उसने अपने कारोबार का निर्माण मूल्य चयन और सुविधा के इर्दगिर्द किया है। रिपोर्ट के मुताबिक नई ई-कॉमर्स पॉलिसी के लागू होते ही दूसरे दिन ही फ्लिपकार्ट और अमेजन की ऑनलाइन मार्केटप्लेस से 4 लाख से अधिक उत्पाद गायब हो गए थे। नई व्यवस्था से अमेजन पर सबसे ज्यादा मार पड़ी है। फ्लिपकार्ट पर भी इसी तरह का असर है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

इमरान खान की भाषा बोल रही है कांग्रेस : रविशंकर प्रसाद

नयी दिल्ली : पिछले हफ्‍ते हुए पुलवामा आतंकी हमले को लेकर जहां पूरा देश गम में डूबा हुआ है, लोग इस कायराना हरकत करने वाले को सब्‍ाक सिखाने की मांग कर रहे है। वही राजनीतिक दलों ने एक दूसरे पर [Read more...]

कार्रवाईः बांध बनाकर रोकी जाएगी पाकिस्तान को जाने वाली तीन नदियों का पानी

लखनऊः केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने गुरुवार को मुजफ्फरनगर में 4700 करोड़ रुपए की राष्ट्रीय राज मार्ग परियोजना का शिलान्यास किया। कार्यक्रम के शुरुआत में गडकरी ने मुजफ्फरनगर के गवर्नमेंट इंटर कॉलेज में पुलवामा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि [Read more...]

मुख्य समाचार

दीघा के होटल में युवक का फंदे से लटका शव बरामद

दीघा : दीघा स्थित एक होटल में कोलकाता के एक युवक का फंदे से लटकता शव बरामद किया गया। पुलिस का अनुमान है कि उसने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। मृतक की पहचान शुभंकर बनर्जी (25) के रूप [Read more...]

रघुनाथगंज में अवैध हथियारों के साथ आर्म्स कारोबारी गिरफ्तार

दो वन शटर पिस्टल समेत दो जिंदा कारतूस बरामदमुर्शिदाबादः खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के बाद रघुनाथगंज थाना पुलिस ने अवैध हथियारों के साथ आर्म्स कारोबारी को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार कारोबारी का नाम गुलाब शेख(28) है। बुधवार [Read more...]

ऊपर