वाहन उद्योग ने सरकार से मांगा प्रोत्साहन पैकेज

नयी दिल्लीः बिक्री में भारी गिरावट का सामना कर रहे वाहन उद्योग ने सरकार से वाहनों पर जीएसटी घटाने समेत क्षेत्र के लिए प्रोत्साहन पैकेज देने की मांग की। वाहन उद्योग से जुड़े दिग्गजों ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ बैठक की और उनका ध्यान उद्योग की चुनौतियों की ओर आकर्षित किया। इसमें वाहन क्षेत्र में नौकरियों पर लटक रही तलवार भी शामिल हैं। वित्त मंत्री से मिलने वालों में मारुति सुजुकी के चेयरमैन आर सी भार्गव, महिंद्रा एंड महिंद्रा के अध्यक्ष (वाहन क्षेत्र) और सियाम के अध्यक्ष राजन वढेरा समेत कलपुर्जे क्षेत्र के संगठन एसीएमए और डीलरों के संगठन एफएडीए के प्रतिनिधि शामिल रहे।

मांगी रियायतेंः सियाम के अध्यक्ष राजन वढेरा ने बताया, ‘ हमने वाहन क्षेत्र के लिए कुछ रियायत की मांग की है। मुझे उम्मीद है कि वाहन क्षेत्र के लिए राहत पैकेज जल्द दिया जाएगा। ‘ सरकार उद्योग से जुड़े लोगों से मांग में गिरावट की वजह और इस दिक्कत के समाधान के बारे में जानना चाहती है। बैठक के दौरान वाहन उद्योग ने उन कारकों के बारे में विस्तार से बताया। इनमें सस्ते कर्ज की उपलब्धता से जुड़ी दिक्कत, वाहनों के अधिग्रहण की बढ़ती लागत और वाणिज्यिक वाहनों की लोड क्षमता में बदलाव शामिल हैं।

पंजीकरण शुल्क में प्रस्तावित वृद्धि नहीं की जानी चाहिएः वढेरा ने कहा, ‘ वाहन उद्योग ने दोहराया कि वाहन पंजीकरण शुल्क में प्रस्तावित वृद्धि नहीं की जानी चाहिए क्योंकि क्षेत्र पहले से कमजोर मांग की समस्या से जूझ रहा है। मांग में सुधार के लिए वाहनों पर जीएसटी को 28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत करने की जरूरत है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टोक्‍यों ओलंपिक में खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करेगा देश : कोविंद

नयी दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि 24 जुलाई से नौ अगस्त तक आयोजित 2020 टोक्यो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व आगे पढ़ें »

बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी पहुंचीं जयपुर साहित्य महोत्सव में, लेखन चुनौतियों का जिक्र किया

जयपुरः ओमान की लेखिका एवं बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी के लिए लेखन का सबसे दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण पहलू समाज में मौजूद अनसुनी और आगे पढ़ें »

ऊपर